चोटी कटवा का भयः भ्रम या हकीकत, दहशत बरकरार
| Rainbow News - Aug 11 2017 5:24PM

मीरजापुर। पिछले कई दिनों से जनपद में जारी चोटी कटवा का भय बरकरार है। आलम यह है कि ग्रामीण महिलाएं भ्रम और भय के बीच जीने को विवश है। दहशत इस कदर समाया हुआ है कि महिलाएं चोटी को बचाने के लिए हर जतन तो कर ही रही है घर से बाहर निकले में परहेज करने लगी है। वहीं दूसरी ओर पुलिस प्रशासन भी इस बला को लेकर खासा परेशान हो उठा है।

एक ओर प्रशासन जहां इसे भ्रम और अंधविश्वास करार देते हुए किसी की शरारत और साजिश बता रहा है तो वहीं जिन महिलाओं की चोटी कट जा रही है वह मारे दहशत के कुछ बोल भी नहीं पा रही है। पिछले एक सप्ताह से जारी चोटी कटवा का भय कम होने को कौन कहे बढ़ता ही जा रहा है। शायद ही ऐसा कोई दिन हो जब कोई न कोई महिला चोटी कटवा की शिकार न होती हो।

हर कोई जहां इस सच्चाई को लेकर परेशान है इस हकीकत को जानने के लिए वहीं पुलिस प्रशासन भी इस नए बला से खासा परेशान हो उठा है। मजे कि बात है कि अभी तक किसी ने यह नहीं स्वीकार किया है कि उसने चोटी काटने वाले को देखा है। कोई सामने किसी छाया के होने की बात कह रहा है तो कोई चोटी कटने के बाद हाथ में चोटी आने की बात स्वीकार कर रहा है।

मजे कि बात है कि हर कोई चोटी कटने के बाद बीमार और बेहोश हो जा रहा है इस रहस्य को लेकर खासा परेशान है कि आखिरकार इसकी सच्चाई क्या है। इसके पीछे किसी गिरोह की गहरी साजिश है या शरारत यह तो स्पष्ट नहीं हो पा रहा है, लेकिन सभी इसकी हकीकत को जानने के लिए परेशान है।

 



Browse By Tags



Other News