त्रिपुरा में पत्रकार की हत्या लोकतंत्र के लिये चिंताजनक : राहुल
| Rainbow News - Sep 22 2017 4:52PM

नयी दिल्ली। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने त्रिपुरा में एक टीवी पत्रकार की जघन्य हत्या पर दुख जाहिर करते हुए कहा कि मीडिया पर ‘बार-बार’ हमला भारतीय लोकतंत्र के लिये चिंताजनक है। स्थानीय टेलीविजन चैनल के लिये काम करने वाले शांतनु भौमिक की कल पश्चिमी त्रिपुरा जिले में उस वक्त हत्या कर दी गई थी जब वह आईपीएफटी आंदोलन को कवर कर रहे थे।
राहुल ने अपने ट्वीट में कहा, ‘‘टीवी पत्रकार शांतनु भौमिक की जघन्य हत्या से व्याकुल हूं। मीडिया पर बार-बार हमला हमारे लोकतंत्र के लिये चिंताजनक है।’’ इससे पहले आज कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने अपने ट्वीट में कहा कि भौमिक की हत्या ‘डरावनी याद दिलाती’ हैं कि सच्चाई का गला घोंटने का प्रयास करने वाली ताकतें उभार पर हैं।

त्रिपुरा के पत्रकार शांतनु भौमिक की हत्या

त्रिपुरा के पत्रकार शांतनु भौमिक की गत 20 सितम्बर 2017 को हत्या कर दी गयी। वे लोकल टीवी चैनल 'दिनरात' में काम करते थे। शांतनु त्रिपुरा में अलग राज्य की मांग करने वाले संगठन IPTF और सीपीएम के संगठन TRUGP के बीच टकराव को कवर करने गए थे। पिछले कुछ दिनों में अलग राज्य की मांग को लेकर दोनों गुटों में जमकर संघर्ष हुआ है। पुलिस ने IPTF के चार कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया है।

कोलकाता प्रेस क्लब ने फोटो पत्रकार शांतनु भौमिक की हत्या की कड़ी निंदा की है। कोलकाता प्रेस क्लब के अध्यक्ष स्नेहाशीष सूर ने एक बयान जारी कर शांतनु भौमिक की मौत पर गहरा शोक व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि इस दुख घड़ी में पूरा पत्रकार समूह उनके परिजनों के साथ है। श्री सूर ने देश में पत्रकारों की हत्या पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि इस तरह के अपराधों को रोकने के लिए सरकारों को कदम उठाने चाहिए।

आईएनएस ने भी हत्या की निंदा की है। इंडियन न्यूजपेपर सोसाइटी (आईएनएस) की अध्यक्ष अकिला उरंकार ने शांतनु भौमिक की नृशंस हत्या की कड़ी निंदा की है। सुश्री उरंकार ने आज यहां एक विज्ञप्ति जारी कर त्रिपुरा सरकार से अपराधियों को पकड़ने तथा पत्रकारों को सुरक्षा मुहैया कराने की मांग की ताकि वे भयमुक्त होकर अपने कर्तव्यों का निर्वाहन कर सकें।



Browse By Tags



Other News