मिर्जापुर की श्वेता चौधरी बनी मिसेज इण्डिया अर्थ
| -Rajeev Kumar Gupta/ - Oct 12 2017 12:03PM

वाराणसी। गत 6 अक्टूबर को दिल्ली में हुये मिसेज इंडिया अर्थ 2017 के ग्रैंड फिनाले में पूर्वांचल के मिर्जापुर की लाडली श्वेता चौधरी ने देश विदेश के 48 प्रतिभागियों को पीछे छोड़ते हुए मिसेज इंडिया अर्थ के ताज पर कब्ज़ा जमा लिया। श्रीमती चौधरी इस मुकाम को हासिल करने में अपनी माता का आशीर्वाद,पति का सहयोग और प्रशंसकों की दुआ मानती है। अब वह वर्ष 2018 के जून में लास वेगास में आयोजित होने वाले इंटरनेशनल पेग्मेंट मिसेज़ अर्थ में रिप्रेजेंट करेंगी जिसमे लगभग सभी देशों की महिलाएं प्रतिभाग करेंगी।

बताते चलें कि मूलरूप से पूर्वांचल के विंध्याचल मंडल अंतर्गत मिर्जापुर जनपद के अहरौरा में जन्मी,पली,पढ़ी और बढ़ी श्वेता ने प्रारंभिक शिक्षा अपने पिता के स्थानांतरण के कारण पटना में किया उसके बाद वाराणसी में भी अध्ययन किया अचानक उनके पिता का देहांत हो गया जिसके बाद वह अपनी माँ सुमन श्रीवास्तव के साथ मुम्बई चली गयीं और उन्होंने मॉडलिंग की ओर कदम बढ़ाया इसके बाद अपने अथक परिश्रम,लगन,संस्कार,स्वाभाव और फिटनेस की वजह से लगातार ऊंचाइयों के शिखर पर पहुँचती चली गयी। 6 मॉडलिंग से अपने कैरियर की शुरुआत के बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। लगातार 12 वर्षों तक तमिल और कन्नड़ फिल्मो में काम किया। इसी बीच शारजाह में ईएमआई ट्रांसमिशन में बतौर प्रोजेक्ट मेनेजर के रूप में कार्य किया। 2007 में उनकी शादी अमित चौधरी से हो गयी। उनकी दो पुत्रियां स्वधा और अगस्त्या क्रमशः 6 और 3 वर्ष की हैं।

उन्होंने मुम्बई में वर्ष 2016 में मिसेज़ परफेक्ट, मिसेज ब्यूटीफुल लिप्स व मिसेज़ ब्यूटीफुल आई कांटेस्ट में भी अपना दबदबा बनाया। फिर उन्होंने मिसेज़ इंडिया अर्थ में अपनी किस्मत आज़माने की सोची और आज वह मिसेज़ इंडिया अर्थ बन गयीं। इस बाबत श्वेता चौधरी ने मोबाइल पर वार्ता के दौरान बताया कि उनके पति,माता और स्नेहीजनों की प्रेरणा,सहयोग और समर्थन से बढ़े आत्मविश्वास के वजह से ही वह इस सफ़र को तय कर सकी हैं। बावजूद इसके उन्होंने बताया कि वह इन सब कार्यक्रमो में प्रतिभाग के लिए किये जाने वाली तैयारियों के बाद भी दृष्टिहीन एसोसिएशन और अनाथालय से जुड़कर उनकी सेवा किया करती हैं। ग्रैंड फिनाले में यूके,यूएस और दुबई सहित भारत के विभिन्न प्रांतों से कुल 48 महिलाओं ने प्रतिभाग किया था। जिसमे 2 कैटेगरी थी क्लासिक अधिक उम्र की महिलाओं के लिए और रेगुलर 20-40 वर्ष की महिलाओं के लिए। क्लासिक में कुल 20 महिलाएं थी वहीँ रेगुलर में 28 महिलाओं ने प्रतिभाग किया। श्वेता रेगुलर कैटेगरी में शामिल थीं।

उक्त प्रतियोगिता में कुल 10 राउंड हुए जिसमे 3 रैंप पर हुये। 10 राउंड चले प्रतियोगिता में जज की भूमिका निभा रहीं फ़िल्मी अदाकारा महिमा चौधरी, न्यूट्रिशियन्स एन्ड फिटनेस एक्सपर्ट विनय कत्याल, सिंगर कंपोजर समीर, स्किन एक्सपर्ट डॉ दीप्ती ढिल्लन,ऋतिका विनय व विनय यादव ने श्वेता चौधरी को विजेता घोषित कर मिसेज़ इण्डिया अर्थ 2017 का ताज़ पहनाया। इससे न सिर्फ श्वेता चौधरी बल्कि पूर्वांचल के लोगों में भी ख़ुशी की लहर दौड़ गयी। मिसेज़ इंडिया अर्थ 2107 घोषित होने के बाद श्वेता ने बताया कि इस प्रतियोगिता में विजेता बनना मेरे लिए एक सपना था। इसके लिए मैंने ऋतिका रामत्रि से प्रशिक्षण भी लिया था जो बहुत कारगर साबित हुआ। इसके साथ ही मेरी माता सुमन श्रीवास्तव,पति अमित चौधरी का भरपूर सहयोग और प्रशंसकों की दुआओं की वजह से मुझे यह मुकाम हासिल हो सका है। अब वह वर्ष 2018 के जून में लास वेगास में आयोजित होने वाले इंटरनेशनल पेग्मेंट मिसेज़ अर्थ में रिप्रेजेंट करेंगी जिसमे लगभग सभी देशों की महिलाएं प्रतिभाग करेंगी। उन्होंने बताया कि आगामी नवम्बर माह में वह वाराणसी आएंगी जहाँ अपने लोगों के बीच इस सफ़र के अनुभवों को साझा करेंगी।



Browse By Tags



Other News