पद्मावती के बाद अब फिल्म 'द गेम ऑफ अयोध्या' का विरोध
| Rainbow News - Dec 1 2017 1:03PM

पद्मावती के विरोध के बाद अब फिल्म 'द गेम ऑफ अयोध्या' का भी विरोध शुरू हो गया है। अयोध्या के संतों ने फिल्म के खिलाफ विरोध का बिगुल फूंक दिया है। संतो ने कहा है कि इस विवादास्पद फिल्म को रिलीज होने से रोका जाए नहीं तो वे सड़कों पर आने को मजबूर होंगे। संतों ने पूरे देश में आंदोलन की धमकी दी है।

बता दें कि 8 दिसंबर को रिलीज होने जा रही लिब्राहन कमीशन की रिपोर्ट पर आधारित फिल्म 'द गेम ऑफ अयोध्या' के विरोध की आग अयोध्या पहुंच गई है। आरोप है कि फिल्म में हिंदुओं को छल से भगवान राम की मूर्ति स्थापित करते दिखाया गया है। फिल्म का विरोध करते हुए विश्व हिंदू परिषद ने इसे सस्ती लोकप्रियता बताया है।

वीएचपी के प्रांतीय मीडिया प्रभारी शरद शर्मा ने कहा कि फिल्म निर्माता माहौल बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं। शर्मा ने कहा, 'शांतिपूर्ण माहौल को बिगाड़ने में ऐसे लोगों की सक्रियता जगजाहिर है। पद्मावती को लेकर संपूर्ण देश में आंदोलन हो रहा है ,और अब अयोध्या को लेकर विवाद खड़ा किया जा रहा है ।फिल्म सेंसर बोर्ड इस पर तत्काल कार्रवाई करे और फिल्म पर रोक लगाई जाए।'

उधर, राम जन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य डॉ. रामविलास दास वेदांती ने कहा कि विवादित फिल्मों को बनाकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर षड्यंत्र रचा जा रहा है। देश में माहौल बिगाड़ने की साजिश चल रही है। इस फिल्म को प्रदर्शित करने का सपना फिल्म निर्माता देखना छोड़ दें। निर्वाणी अनी अखाड़ा के श्रीमहंत और पक्षकार महंत धर्मदास ने भी इस प्रकार की विवादित फिल्म को सरकार से रोकने की मांग की है।



Browse By Tags



Other News