गुजरात चुनाव परिणाम तय करेंगे 2019 के लोक सभा चुनाव की तस्वीर
| -Santosh Tiwari - Dec 17 2017 4:47PM

गुजरात विधान सभा का चुनाव सम्पन्न हो चुका है और अब 18 दिसम्बर को इसके परिणाम् का सब को बेशब्री से इंतजार है| हालाकि इक्जिट पोल बीजेपी के सत्ता वापसी का संकेत दे चुके है लेकिन सब को इंतजार है 18 दिसम्बर को जो कि यह तय करेगा कि 2019 में किसका पलडा भारी होगा| एक तरह से यह चुनाव परिणाम् 2019 के लोकसभा के सेमीफाइनल की तरह से देखा जा सकता है|

एक ओर जहा प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी की साख दाव पर लगी है वही कांग्रेस के नव निर्वाचित अध्यक्ष राहुल गांधी के लिये यह किसी अग्नि परिक्षा से कम नहीं है| दोनो नेताओ ने अपने अपने तरीके से जनता को रिझाने का प्रयास किया और आखिरी दौर में चुनाव को अपनी अपनी तरफ झुकाने के प्रयास में अपशब्दो की बौछार कर दी| विकास के दम पर चुनाव फतेह करने चली बीजेपी ने जब देखा की कांग्रेस जाति पाति की राजनीति पर ऊतारू हो रही है और हार्दिक पटेल के कंधे के सहारे वह आक्रामक हो रही है तो वह भी अपने लय में आ गयी फिर शुरू हो गया द्वंद शब्द वाणो का और यह सिल सिला अल्लाऊदिन खिलजी से शुरू हो होकर पाकिस्तान तक चला|

कांग्रेस ने जहा विकास पागल हो गया का स्लोगन देकर फजीहत मोल ले ली वही उसके बडबोले नेता मणि शंकर अय्यर ने प्रधान मंत्री मोदी को नीच क़ह कर अपनी ही पार्टी को मुसीबत में डाल क़र बीजेपी को बैठे बैठाये एक भावनात्मक मुद्दा दे दिया| कुल मिला क़र यह भले ही एक राज्य का चुनाव रहा हो लेकिन इसके परिणाम् दोनो ही दलो के लिये मील का पत्थर साबित होंगे| यदि चुनाव परिणाम् बीजेपी के पक्ष में गया तो निश्चित ही नरेन्द्र मोदी एक अजेय राजनेता के तौर पर स्थापित हो ज़ायेंगे और उनकी सरकार कडे फैसले लेने में और भी संजीदा हो जायेगी और 2019 के लोकसभा चुनाव में उनके जीत के अश्व मेघ घोड़े को कोई पकडने वाला नहीं होगा|

और यदि यह परिणाम् कांग्रेस के पक्ष में जाता है तो निश्चित तौर पर यह राहुल गांधी और कांग्रेस के लिए किसी संजीवनी से कम नहीं होगी और 2019 के लिये वह नरेन्द्र मोदी को कड़ी टक्कर देने में सक्षम हो ज़ायेंगे| अब देखना है परिणाम् किसके पक्ष में जाते है और किस जीत का सिकन्दर बनाते है|



Browse By Tags



Other News