अम्बेडकरनगर में धान की खरीद गत वर्ष की तुलना में अब तक 5 गुना अधिक
| Rainbow News - Dec 27 2017 4:52PM

इस समय जिले के किसानों के खरीफ उत्पाद (धान) की खरीद 5 क्रय एजेन्सियों के माध्यम से कुल 85 क्रय केन्द्रों पर की जा रही है। जिले में अब तक की गई धान की खरीद गत वर्ष की तुलना में 5 गुना अधिक है। ऐसी स्थिति में जाहिर सी बात है कि लाभान्वित किसानों की संख्या और उन्हें भुगतान की गई धनराशि भी अधिक होगी। धान क्रय प्रक्रिया का आगाज नवम्बर माह की पहली तारीख से हुआ जो 28 फरवरी 2018 तक नियत है।

उक्त जानकारी देते हुए जिला खाद्य विपणन अधिकारी अंशुमाली शंकर ने बताया कि इस जिले में धान खरीद का लक्ष्य 1 लाख 37 हजार 600 मीट्रिक टन रखा गया है, और 26 दिसम्बर 2017 तक 44 हजार 687.27 मीट्रिक टन (लक्ष्य का 32.50 प्रतिशत) धान की खरीद की जा चुकी है। पिछले वर्ष 26 दिसम्बर तक 7 हजार 963.65 मीट्रिक टन धान की खरीद हुई थी। इस वर्ष अब तक की गई धान की खरीद पिछले वर्ष की तुलना में 5 गुना अधिक है।

डी.एफ.एम.ओ. शंकर के अनुसार अब तक की गई धान खरीद से जनपद में 5 हजार 888 किसान लाभान्वित हो चुके हैं। किसानों को उनके उपज का समर्थन मूल्य उनके बैंक खाते में सीधे भेजकर भुगतान किया जा रहा है। धान खरीद के लिए खाद्य विभाग व पं.स. सहकारी समिति के संयुक्त 17, पी.सी.एफ.के 33, यू.पी.पी.सी.यू. के 5, कल्याण निगम के 3 (सभी स्टेट एजेन्सी 58) और प्राइवेट प्लयर्स व भारतीय खाद्य निगम के संयुक्त 27 इस तरह कुल 5 क्रय एजेन्सियों के 85 क्रय केन्द्रों की स्थापना जिले के विभिन्न क्षेत्रों में की गई है। जहाँ पर प्रतिदिन धान की खरीद की जा रही है।

  क्रय केन्द्रों पर की जाने वाली धान खरीद से संतुष्ट है किसान: अंशुमाली शंकर  

जिला खाद्य विपणन अधिकारी ने कहा कि जिले के सभी क्रय केन्द्र बगैर नागा प्रतिदिन ससमय खोले जा रहे हैं और सभी क्रय एजेन्सियों के कर्मचारी व अधिकारी धान क्रय केन्द्रों की बराबर निगरानी कर रहे हैं। डी.एफ.एम.ओ. अंशुमाली शंकर ने बताया कि जिले में धान क्रय करने हेतु पर्याप्त संख्या में बोरे उपलब्ध हैं। आवश्यकता पड़ने पर फैजाबाद से और बोरे मंगा लिए जाएँगे।

उन्होंने कहा कि बीते वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष सरकार द्वारा धान खरीद का लक्ष्य अधिक रखा गया था। धान खरीद की स्थिति पर उन्होने कहा कि अब तक जो भी खरीद हुई है वह सन्तोषजनक है। जिले का किसान क्रय केन्द्रों पर की जाने वाली धान खरीद से संतुष्ट है। डी.एफ.एम.ओ. शंकर ने बताया कि इस बार किसान अपने उत्पाद धान विक्रय के 48 घण्टे के अन्दर भुगतान प्राप्त कर ले रहे हैं।

अन्नदाता को क्रय केन्द्रों पर किसी तरह की कोई परेशानी न हो इसके लिए विभाग की टीमें जिले में भ्रमणशील रहकर निगरानी कर रही हैं। मैं स्वयं क्रय केन्द्रों का निरीक्षण कर किसानों की समस्याओं से अवगत होकर उसका अविलम्ब निस्तारण करता रहता हूँ। जिला खाद्य विपणन अधिकारी अंशुमाली शंकर ने कहा कि धान क्रय केन्द्रों पर किसी तरह की शिथिलता या अनियमितता न बरती जाए इसका पूरा ध्यान रखा जा रहा है।



Browse By Tags



Other News