फर्जीवाड़े में दो सप्लाई इंस्पेक्टर समेत तीन दर्जन लोगों पर मुकदमा
| Rainbow News - Dec 31 2017 4:39PM

आलापुर (अम्बेडकरनगर)। पात्र गृहस्थी के राशन कार्डो में सत्यापित सूची से इतर अपात्र व्यक्तियों का नाम शामिल कर अपात्रों को लाभ पहुंचाने की कोशिश करना एवं लाभ लेना आलापुर तहसील में तैनात रहे दो पूर्ति निरीक्षकों एवं प्रधान संघ अध्यक्ष व उनके परिवारीजनों को भारी पड़ गया। निलंबित उचित दर विक्रेता इंद्रावती देवी पत्नी बलराम निषाद की तहरीर पर न्यायालय के निर्देश पर धारा 156 - 3 के तहत दिए गए निर्देश पर पुलिस ने दो पूर्ति निरीक्षकों एवं प्रधान संघ अध्यक्ष घनश्याम यादव व उनके परिवारीजनों सहित तीन दर्जन लोगों के विरुद्ध शुक्रवार देर शाम कूटरचना, जालसाज़ी धोखाधड़ी धमकी देने सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर लिया है।

प्रभारी थानाध्यक्ष महेन्द्र यादव ने न्यायालय के निर्देश पर मामला पंजीकृत होने की पुष्टि करते हुए कहा कि मामले की जांच/ विवेचना शुरू कर दी गई है। हालांकि अभी तक किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। बता दें कि आलापुर थाना क्षेत्र के शाहपुर औरांव ग्राम पंचायत की निलंबित उचितदर विक्रेता इंद्रावती पत्नी बलराम निषाद का कोटा कालाबाजारी एवं अनियमितता की शिकायतों के बाद निलंबित कर दिया गया था। निलंबित उचित दर विक्रेता ने आलापुर थानाध्यक्ष को आलापुर में तैनात रहे पूर्ति निरीक्षक मोहम्मद सलीम अमित सिंह यादव व ग्राम प्रधान घनश्याम यादव पूर्व प्रधान अनारकली देवी सहित तीन दर्जन लोगों के विरुद्ध मामला पंजीकृत करने के लिए तहरीर दिया था लेकिन पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई थी। जिससे क्षुब्ध इन्दावती देवी ने धारा 156-3 के तहत न्यायालय में प्रार्थना पत्र देकर कार्रवाई किए जाने की मांग किया।

इन्द्रावती देवी का आरोप था कि ग्राम प्रधान घनश्याम यादव पूर्व प्रधान अनारकली देवी ने आलापुर में तैनात रहे पूर्ति निरीक्षक अमित सिंह यादव व मोहम्मद सलीम से सांठगांठ कर के अपने परिवारीजनों व अन्य चहेते अपात्र लोगों का नाम पात्रता​ गृहस्थी में न सिर्फ  कूटरचना व धोखाधड़ी करके शामिल करा दिया बल्कि उपरोक्त लोग प्रार्थी पर दबाव बनाकर राशन इत्यादि भी लेते रहे। प्रार्थिनी द्वारा खाद्यान्न देने से मना करने व सत्यापित सूची से इतर कूटरचना कर अपात्रों की की गई फीडिंग वाली सूची में शामिल लोगों को खाद्यान्न देने से मना करने पर उपरोक्त लोग आग बबूला हो गए व जान से मारने की धमकी देने लगे। प्रार्थिनी ने थाने से लेकर जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक तक से शिकायत किया लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो सकी।

उपरोक्त पूर्ति निरीक्षकों द्वारा अपात्रों का नाम भी नेट फीडिंग से हटाया नहीं गया न्यायालय ने मामले को गंभीरता पूर्वक लेते हुए उपरोक्त लोगों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत कर कार्रवाई करने का निर्देश सप्ताहभर पूर्व आलापुर थानाध्यक्ष को दिया था। पुलिस ने शुक्रवार देर शाम इंद्रावती देवी पत्नी बलराम निषाद निवासी शाहपुर औरांव की तहरीर पर आलापुर में तैनात रहे पूर्ति निरीक्षक मोहम्मद सलीम,अमित सिंह यादव प्रधान संघ रामनगर अध्यक्ष घनश्याम यादव पूर्व प्रधान अनारकली यादव व उनके परिवारीजनों अचला पत्नी घनश्याम यादव, गुड्डी पत्नी मनोज कुमार, कांती पत्नी अशोक कुमार, रंजू पत्नी दिनेश कुमार के अलावा कलावती पत्नी रामनयन, उर्मिला पत्नी रामजनम, फूलमती पत्नी ओमकार,

छविराजी पत्नी द्वारिका, कमलेश पत्नी त्रिभुवन, गोमती पत्नी फूलचंद, ओमपत्ती पत्नी चंद्रभूषण, सीमा पत्नी देवी लाल, किरन पत्नी नंदलाल, गायत्री पत्नी सत्यदेव, सुनीता पत्नी जिलाजीत, यशोदा पत्नी विधानचंद्र, नर्वदा पत्नी फूलचंद, कुसुम पत्नी रामशकल, रीता पत्नी इजलास, सितारा पत्नी जय नारायण, फूलमती पत्नी महेन्द्र, कर्मवती पत्नी केशराज, मीरा पत्नी मनीराम, रामप्यारे पुत्र चैतु, अनिल कुमार पुत्र स्वर्गीय रामसुंदर, शोभाराम पुत्र बंशराज, सूर्यनारायण पुत्र रामदयाल, जयंत्री पुत्र रामभरोस, श्रीराम पुत्र लालसा, रामकुमार पुत्र अलगू, रामनयन पुत्र मिथरु सहित तीन दर्जन लोगों के विरुद्ध मुकदमा अपराध संख्या 194/17 धारा 419, 420, 468, 471, 467 506 के तहत मामला पंजीकृत कर लिया है।



Browse By Tags



Other News