पापी पेट का सवाल है, वरना......
| Rainbow News - Jan 8 2018 2:50PM

जौनपुर। हाड़ कंपा देने वाली व सितम ढाने वाली सर्दी, मौसम निरन्तर जालिम होता जा रहा है। सुबह से लेकर दोपहर तक कोहरा अपने चादर से भगवान भाष्कर को ढंका रहा। हालांकि दोपहर में निकली धूप ने लोगों को राहत पहुंचा लेकिन सर्द सुबह से ही लोग पापी पेट के सवाल का जवाब ढूढ़ने के लिये निकल पड़ते हैं।

ऐसे में ही सिकरारा क्षेत्र का एक गरीब व्यक्ति झुकती कमर को और झुकाकर औकात से भी ज्यादा बोझा ठेले पर लादकर कराहते हुये आगे जा रहा था। लोगों के अनुसार गरीबी की मार झेलने वाले उस व्यक्ति पर ठण्ड अपना असर नहीं डाल पा रही थी।

ठेला पर बोझा लादकर चलने वाले उस गरीब की ठेला खींचते समय सांस फूल रही थी जो पल भर रूकने के बाद पुनः हिम्मत जुटाकर आगे बढ़ने की कोशिश करता हुआ आगे निकल गया। इस समय पड़ रही भीषण ठण्ड में उस गरीब व्यक्ति के औकात से अधिक किये जाने वाले मेहनत को देखने वाले लोग एक स्वर से कह दिये कि पापी पेट का सवाल है।



Browse By Tags



Other News