बेसमेंट को ढकवाने के साथ भरे पानी को निकलवा रहा निर्माण निगम
| -Dinesh Verma - Jan 9 2018 1:06PM

करोडों रूपये की मिट्टी घोटाले के राज को छुपाने का भरसक प्रयास कर रहा है निर्माण निगम

सद्दरपुर (अम्बेडकरनगर) । महामाया राजकीय मेडिकल कालेज सद्दरपुर में मिट्टी के पटायी को लेकर राजकीय निर्माण निगम द्वारा किये गये करोडों रूपये के घोटाले का कहीं पर्दाफाश न हो जाए। उस राज को छुपाने के लिए राजकीय निर्माण निगम कारीगरों, मजदूरों को लगाकर सेटरिंग के जरिये बेसमेंट को ढकवाने का कार्य करवा रहा है।यहां का जितना पानी होता है सब बेसमेंट के नीचे भरा जाता है मेडिकल कालेज की बिल्डिंगों के नीचे हुए पोल में लगभग ५ फिट पानी भरा हुआ है। पाँच फिट तक पानी भरने से बिल्डिंगों के लिए खतरा बना हुआ है। खोलली बिल्डिंगों के नीचे मिट्टी की पटाई न कराकर निर्माण निगम ने करोडो रूपये कागजों में दिखाकर वारा न्यारा कर दिया है।

और अब इसका पर्दाफाश न होने पाये इसके लिए निर्माण निगम ने बिल्डिंगों के नीचे दिखाई दे रहे पोल को ढकने के लिए कारीगरों को लगाकर सेटरिंग कराकर छत लादने का भी काम कर रहा है। ज्ञात हो कि मेडिकल कालेज में राजकीय निर्माण निगम द्वारा मिट्टी की पटाई केवल नाममात्र के बराबर कराकर कागजों में करोडों रूपये की धनराशि को निकालकर बंदर बाट करने का कार्य किया गया है।  मिट्टी की पटाई के घोटाले को लेकर  मेडिकल कालेज प्रशासन भी चुप्पी साधे हुए हैं। वह भी उसकी हाँ में हाँ मिलाने में पीछे नहीं है। मिट्टी पटाई के नाम पर राजकीय निर्माण निगम द्वारा किया गया घोटाला मेडिकल कालेज का अब तक का सबसे बड़ा घोटाला है। निर्माण निगम बेसमेंट में भरे पाँच फुट तक के पानी को पम्पिंग सेट के जरिये निकलवाने का कार्य करवा रहा है कहीं बाहर से कोई जाचँ टीम न आ जाए उसके लिए निर्माण निगम दिन रात मजदूरों, कारीगरों को लगाकर सेटरिंग कराने से लेकर छत डालने और बिल्डिंगों के नीचे भरे हुए पानी को निकलवाने में जुटा हुआ है।

विगत वर्षो के वारिश तक का पानी उसी बेसमेंट में बहाया जाताहै। और तो और वारिश के पानी की निकासी के लिए बिल्डिंगों के सहारे जो पाइपें लगायी गयी है उनको भी बेसमेंट तक पहुँचाया गया है जिससे यहां वारिश का पानी बाहर नालियों से न जाकर बिल्डिंगों के बेसमेंट में भराने का कार्य किया गया। जानबूझकर निर्माण निगम द्वारा पानी को बाहर नालियों से नहीं बहाया गया। क्यों कि यहाँ पर बनी नालियां अधिकांश स्थानों पर टूटकर धराशाई हो गयी है। मिट्टी के घोटाले की खबर प्रकाशित होने पर निर्माण निगम बेसमेंट में भरे पानी को पम्पिंग सेट से निकलवाने में जुटा हुआ है।



Browse By Tags



Other News