युवा दिवस पर विराट कवि सम्मेलन
| Rainbow News - Jan 14 2018 3:36PM

देर रात तक कवियों ने बांधा समां, श्रोता हुए भाव विभोर

होशंगाबाद। स्वामी विवेकानंद जयंती पर राष्ट्रीय कवि संगम एवं नर्मदा आव्हान सेवा समिति द्वारा तिलक भवन सेठानी घाट पर कवि सम्मेलन आयोजित किया गया। सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में म.प्र. विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा, विशिष्ट अतिथि के रूप में हंस राय, प्रसन्ना हर्णे, तथा संगठन के प्रदेश महामंत्री मनीष तिवारी की अध्यक्षता में अनूठा आयोजन नवोदित विराट कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया।

कवि सम्मेलन देर रात तक जारी रहा। म.प्र. के विभिन्न अंचलों से आए 20 कवियों ने सैकड़ों श्रोताओं को अपनी कविता, गीत, गलज हास्य, व्यंग्य की रचनाओं से भाव विभोर कर दिया। डॉ. सीतासरन शर्मा ने कहा कि कवियों-लेखकों के माध्यम से हमारे देश में जागरूकता में तेजी आई है। श्री शर्मा ने कार्यक्रम संयोजक केप्टन करैया को बधाई देते हुए कहा कि ऐसे आयोजन होते रहना चाहिए। उन्होंने कवि सम्मेलन की सफलता की कामना की।

अतिथि एवं कवियों का स्वागत केप्टन करैया, सुभाष यादव, केएन त्रिपाठी, तन्मय करैया, प्रियांश तिवारी, राघवेन्द्र यादव, सतीश समी, कैलाश खमेले ने फूल-मालाओं से किया। मां सरस्वती की पूजा अर्चना से कार्यक्रम प्रारंभ हुआ। सरस्वती वंदना सोहागपुर से आई प्रज्ञा जायसवाल ने गाकर सम्मेलन का प्रारंभ किया। कांटाफोड़ से आये मनोज दुबे ने ऊंचाई प्रदान करते हुए अपनी रचना ‘‘बहुत याद आती है पापा तुम्हारी’’ प्रस्तुत की, जिसको श्रोताओं ने खूब सराहा।

पिपरिया से पधारे नवीन व्यास ने ‘‘मैं तुम्हारे साथ जीना चाहता हूॅ’’ ‘‘वह गया जंग में वो लहु कहां से आये’’ ने श्रोता की बहुत तालियां बटोरी। रायसेन से आये अतुल अंलकार ने अपनी रचना में आज मेहफिल में तेरी सोहरते चली आयी, मेरी गजलों की महक उसकी जुबॉ तक आई। जब मेरे शब्दों के अर्थो की जरूरत थी अतुल एक मेरी मां ही थी। ’जो मुझको यहां तक लायी को बहुत सराहा गया। सुनील भिलाला ने मेरे देश की युवा पीढ़ी पाश्चात संस्कृति अपनाएं- क्या होगा अब युवाओं का ने खूब वाहवाही लूटी।

पिपरिया के हरीश पांडे ने हो जननी तू मुझको अवतार दे (अजन्मी बेटियों की वंदना) पर बहुत गुदगुदाया। कवि अंकित बिल्लौरे, एस आर धोटे, प्रशांत मजबूर, जितेन्द्र शर्मा, आलोक शुक्ला पुरूषोत्तम गौर हिमांशु सिंह सौरभ यादव, मदन बडकुर तन्हाई, स्वर्णा छैनिया, सरिता ताम्रकार, सुनीता पटैल भोपाल, संजय चतुर्वेदी विदिशा, देवेन्द्र वर्मा ने देर रात तक श्रोताओं को खूब गुदगुदाय एवं लोट पोट करते हुए बांधे रखा।

-केप्टन करैया, 94253567756



Browse By Tags



Other News