सुप्रीम कोर्ट के फैसले से राजपूत समाज को निराशा हुई है
| Rainbow News - Jan 18 2018 3:18PM

मुंबई। सुप्रीम कोर्ट ने मध्य प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान और गुजरात में फिल्म पद्मावत के रिलीज को हरी झंडी दे दी है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए राजपूत समाज के संगठन अखंड राजपुताना सेवासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष आर पी सिंह ने कहा कि कोर्ट के फैसले का हम स्वागत करते हैं, लेकिन कोर्ट के आज के फैसले से देश के करोडो राजपूत समाज के लोगों को निराशा हुई है।

उन्होंने कहा कि यह बेहद निराश करनेवाला फैसला है। कोर्ट ने राजपूत समाज की भावना का ख्याल नहीं रखा। श्री सिंह ने आगे कहा कि हम कोर्ट का सम्मान करने वाले समाज है, लेकिन आज के फ़ैसले से हमें बहुत निराशा हुई है। उन्होंने कहा कि देश का क़ानून सभी के मान और सम्मान के लिए होना चाहिये और यह हमारे देवी स्वरूप रानी पद्मिनी के चरित्र के साथ ही राजपूत समाज के इतिहास सहादत का भी ध्यान नहीं रखा गया जो एक बहुत ही बड़ी विडंबना भी है।

श्री सिंह ने कहा कि हम इस विषय पर २१ जनवरी के अखंड राजपूताना सेवासंघ के तृतीय स्थापना दिवस में होने वाली बैठक में चर्चा करेंगे और उसके बाद सामूहिक विचार प्रकट करेंगे जिसमें क़ानूनी पहलू पर भी ध्यान दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि ज़रूरत अनुसार क़ानूनी लड़ाई पर विचार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि समाजिक अलगाव करने वाली फ़िल्म को किस संदर्भ में सेंसर बोर्ड से लेकर कोर्ट की सुरक्षा दी जा रही है और क्यों दिया जा रहा है, देश के लोगों को बताया जायेगा और जनजागरण करके फ़िल्म का बहिष्कार करने का भी प्रयास किया जायेगा।

-आर.पी. सिंह

राष्ट्रीय अध्यक्ष- अखंड राजपुताना सेवासंघ

मो- 9969077213



Browse By Tags



Other News