अम्बेडकरनगर : वाहन चेकिंग के दौरान ए.आर.टी.ओ. व उनकी टीम पर हमला
| Posted by- Editor - Feb 2 2018 11:18AM

आक्रान्ताओं के तेवर से ठण्ड में पसीने-पसीने हुई प्रवर्तन टीम

चेकिंग के दौरान प्रवर्तन दल पर हमला कर सरकारी जीप को किया क्षतिग्रस्त

दिनांक- 1 फरवरी 2018, दिन- गुरूवार, स्थान- इल्तिफातगंज (बाजार), थाना- इब्राहिमपुर। हाथ में लोहे का राड और लाठी लहराते (फिल्मी अंदाज में) व धमकाते हुए हमलावरों ने डग्गामार वाहनों की चेकिंग कर रहे प्रवर्तन दल के अगुवा ए.आर.टी.ओ. के.एन. सिंह और ए.आर.एम. की सरकारी जीप को अपना निशाना बनाया। आक्रान्ताओं के तेवर ने ए.आर.टी.ओ./ए.आर.एम. व प्रवर्तन दल में शामिल अन्य कर्मियों को अवाक कर दिया था। इन आक्रान्ताओं में एक वाहन का मालिक और उसका चालक शामिल रहे, जिन्हें प्रवर्तन दल द्वारा की जा रही वाहन चेकिंग इसलिए नागवार लगी थी क्योंकि उनके पास परिवहन विभाग द्वारा वाहन संचालन हेतु जारी परमिट/पंजीयन व अन्य महत्वपूर्ण/आवश्यक कागजात नहीं थे।

उस समय ए.आर.टी.ओ./ए.आर.एम. एवं प्रवर्तन दल के अन्य सदस्य अपने बचाव के चलते पीछे न हटे होते तो शायद वे लोग आक्रान्ताओं के कोप का भाजन बनकर अस्पताल या परलोकगमन कर गए होते। स्थिति क्या होती इसकी कल्पना मात्र से ही रोंगटे खड़े हो जाते हैं। ऐसा इसलिए भी हुआ क्योंकि प्रवर्तन दल को माकूल सुरक्षा प्राप्त नहीं थी। प्रवर्तन के समय इल्तिफातगंज बाजार में सड़क के किनारे बीते गुरूवार 01 फरवरी 2018 को दुस्साहसिक और फिल्मी अन्दाज में डग्गामार वाहन चालक एवं मालिक ने अपने साथियों के साथ मिलकर ए.आर.टी.ओ. के.एन. सिंह/ए.आर.एम. को निशाना बनाया और आक्रान्ता हो गए थे।

यह तो तुरन्त उपजी बुद्धि के परिणाम स्वरूप प्रवर्तन दल के अधिकारी व कर्मचारीगण पीछे हट गए। हालांकि वह लोग तो सुरक्षित बच गए परन्तु आक्रान्ताओं ने सरकारी वाहन (जीप) को लोहे की राड एवं अन्य अस्त्रों से क्षतिग्रस्त कर तोड़ डाला। आतताई भीड़ ने प्रवर्तन दल को वाहन स्वामी/चालक के साथ कोई कार्रवाई न करने के बावत चेतावनी दिया। हमलावरों ने धमकियाँ देते हुए जान से मारने की बातें कहीं। हालाँकि इब्राहिमपुर पुलिस ने आरोपी चालक और वाहन (बस) को अपने कब्जे में कर लिया। बाद इसके प्रवर्तन कार्य में संलिप्त अधिकारियों/कर्मचारियों को माकूल सुरक्षा व्यवस्था न मिलना इस तरह की अप्रिय घटनाओं की पुनरावृत्ति व प्रवर्तन कार्य करने में बाधक अवश्य बन सकती है।

कैलाश नाथ सिंह, ए.आर.टी.ओ. अम्बेडकरनगर

ए.आर.टी.ओ. के.एन. सिंह के अनुसार परिवहन विभाग के कामकाज में व्यवधान डालने तथा अधिकारी/कर्मचारियों पर जानलेवा हमला किए जाने के मामले में परिवहन विभाग उक्त वाहन के संचालन को ब्लैकलिस्ट (काली सूची) में डालेगा। ए.आर.टी.ओ. ने कहा कि वाहन चालक का लाइसेंस निरस्त करने समेत अन्य कर्रवाई भी की जाएगी। वाहन का पंजीयन ब्लैक लिस्टेड हो जाने के कारण इसके संचालन को लेकर फिटनेस टैक्स जमा करने समेत सभी अभिलेखों के नवीनीकरण पर पाबन्दी लग जाएगी। यह तो रही ए.आर.टी.ओ. के.एन. सिंह की बात।

यह बताना जरूरी है कि इस घटना के 7 माह पूर्व (20 जुलाई 2017) अकबरपुर के सिझौली सब्जी मण्डी स्थल जो थाना/कोतवाली अकबरपुर के अन्तर्गत आती है पर तत्कालीन ए.आर.टी.ओ के प्रवर्तन दल पर भी हमला हुआ था। इस आशय का मुकदमा थाना कोतवाली अकबरपुर में उक्त दिन-दिवस को पंजीकृत कराया गया था।

अब परिवहन विभाग अम्बेडकरनगर की बागडोर सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी कैलाश नाथ सिंह के हाथों में है। 20 जुलाई 2017 की उक्त घटना के 7 माह बाद 01 फरवरी 2018 को बड़े ही दुस्साहसिक और फिल्मी अन्दाज में प्रवर्तन दल के अधिकारी/कर्मचारियों पर वाहन चालक/स्वामी और उनके साथियों द्वारा हमला बोला गया। इससे यह बात तो स्पष्ट हो जाती है कि प्रवर्तन जैसे कार्यों के निष्कंटक व सकुशल निष्पादन हेतु प्रवर्तन दल को माकूल सुरक्षा मिलना चाहिए। जिससे इस दल के सभी सदस्य निर्भय होकर अपने कार्यों का निष्पादन विभाग एवं सरकार व समाज हित में कर सकें।



Browse By Tags



Other News