इंसानियत के लिए दर्स देने का काम करेगी हुसैन की कुर्बानी : मौलाना कमर सुल्तान
| -Ramjee Jaiswal - Feb 5 2018 11:13AM

सालाना मजलिस के 20वें दौर का हुआ आयोजन

जौनपुर। जमीने मुबारक कदम रसूल छोटी लाइन इमाम बारगाह भंडारी स्टेशन के समीप रविवार को हिंदू, मुस्लिम एकता के प्रतीक शिया पंजतनी कमेटी के तत्वावधान में 20वां ऑल इण्डिया मजलिसे अजा जुलूस हुआ। मजलिस में मौलाना कमर सुल्तान दिल्ली ने कहा कि इमाम हुसैन अ.स. की कर्बला के मैदान में दी गयी कुर्बानी न सिर्फ याद की जाती रहेगी बल्कि इंसानियत के लिए दर्स देने का काम करती रहेगी। कहा कि दुनिया में कुर्बानिया तो बहुत दी गयी लेकिन ऐसी कुर्बानी किसी भी धर्म के इतिहास में नहीं मिलती।

मौलाना एजाज हसनैन करारवी व मौलाना मोहम्मद हुसैनी मुजफरनगर ने कहा कि कर्बला के मैदान में बुजुर्ग से लेकर जवान और बच्चे तक के साथ इस हद तक बर्बता की गयी कि किसी भी सदी में जब यह दास्तां बयां की जायेगी तो जिस इंसान के सीने में दिल होगा उसकी आंखें जरुर छलक उठेंगी। मौलाना कुमैल अब्वास अकबरपुर ने कहा कि इमाम हुसैन अ.स. के चाहने वालों को चाहिए कि उनके संदेश से ऐसी जागरुकता पैदा करें कि इंसान के दिलों की आंखें रोशन हो जाय। मजलिस का आगाज तिलावते कलाम-ए-पाक से मौलाना शेख हसन जाफर ने किया। सोजख्वानी मरहूम मो. मुस्लिम के हमनवां ने किया।

पेशखानी मशहूर शायर, आसिफ बिजनौरी, सलमान बिजनौरी, रेयाज मोहसिन बड़ागांवी, डा. शोहरत जौनपुरी, हसन फतेहपुरी, जरगाम सैदनपुरी, इरफान जौनपुरी, वहदत जौनपुरी, नातिक गाजीपुरी, मेंहदी जैदी, जावेद जौनपुरी, जमीर जौनपुरी, मिन्हाल जौनपुरी ने अपने कलाम पेश किए। मजलिस के बाद शबीहे ताबूत अलम मुबारक व जुलजनाह निकाला गया। जिसमें अंजुमन शमशीरे हैदरी नौहाख्वानी व मातम करती रही। जुलूस अपने कदीम रास्ते से होता हुआ इमाम बारगाह कदम रसूल में जाकर खतम हुआ।

नमाज मौलाना मनाजिर हसनैन ने अदा करायी। जुलूस में रियाज मोहसिन, नेहाल हैदर, सै. शहंशाह आब्दी, एजाज हुसैन, कैफी रिजवी, मो. अब्बास, रियाजुल हक प्रधान, मोहम्मद उबैद, डा. मिर्जा मेहर अब्बास, फैसल हसन तबरेज, शम्सी आजाद, कर्मचारी नेता राकेश श्रीवास्तव, रिजवान हैदर राजा आदि मौजूद रहे। शाहिद मेंहदी, सै. हसनैन कमर दीपू ने आभार प्रकट किया। संचालन डा. इंतेजार मेंहदी व मौलाना शेख हसन जाफर ने किया।



Browse By Tags



Other News