उपलब्धि : अम्बेडकरनगर का कृषि विभाग उत्तर प्रदेश में दूसरे नम्बर पर
| By- Reeta Vishwakarma - Feb 8 2018 3:45PM

उत्तर प्रदेश का जिला अम्बेडकरनगर कृषि प्रधान जनपदों में शुमार है। यहाँ रबी, खरीफ और जायद की फसलें प्रमुखता से उगाई जाती हैं। यहाँ का किसान हर मायने में एक पूर्ण अन्नदाता कहा जा सकता है। किसानों के हित को देखते हुए सरकार द्वारा समय-समय पर चलाई जा रही महत्वपूर्ण योजनाओं का क्रियान्वयन जिले के कृषि अधिकारियों द्वारा बड़ी ईमानदारी से किया जा रहा है। ऐसा इसलिए भी सम्भव हो रहा है क्योंकि कृषि महकमें की कमान एक अत्यन्त सुलझे, कर्मठ और क्रियाशील अधिकारी उप कृषि निदेशक विनोद कुमार के हाथों में है। इनके पूर्ववर्ती अधिकारियों के कार्यकाल में यह जनपद कृषि विभाग उत्तर प्रदेश की पंजिका में कहीं भी दृष्टिगोचर नहीं था। परन्तु वर्तमान में डी.डी. ए.जी. की कार्यशैली एवं कर्मठता ने प्रदेश में इस जनपद को दूसरे स्थान पर (कृषि विभाग) ला दिया है।

प्रदेश सरकार द्वारा संचालित सभी योजनाओं का जिले में हो रहे क्रियान्वयन से सन्तुष्ट अब किसान कम ही अपनी समस्याओं को लेकर आन्दोलित हो रहे हैं, जिनका सीधा सम्बन्ध कृषि विभाग से होता है। जोताई, बोआई, कटाई, निकाई और भण्डारण तक आवश्यक उर्वरक, बीज व कीटनाशक समयानुसार किसानों को सरकारी दर पर उपलब्ध कराना और कृषि उत्पादन में बढ़ोत्तरी किए जाने का गुर सिखाने हेतु किसानों को प्रशिक्षण देने आदि कार्य डी.डी. ए.जी. द्वारा बड़े ही मनोयोग से किया जा रहा है। इसके अलावा सरकार द्वारा किसानों को मिलने वाले अनुदान व अन्य आर्थिक सहायता धनराशि का भुगतान कराने में कृषि विभाग का जो योगदान है वह अवश्य ही प्रशंसनीय कहा जाएगा।

इन सब कार्यो के चलते जिले का किसान खुशहाल किसान, उन्नतिशील किसान, प्रगतिशील किसान, जागरूक किसान बनने लगा है। हाइटेक व नवीनतम ढंग से खेती करने, जमीन का सीना चीरकर उन्नतिशील बीज रोपित करने व अधिक से अधिक उपज प्राप्त करने पर जिले के किसानों के चेहरे पर तनावरहित मुस्कान अवश्य ही देखने को मिल रही है। जिले के किसानों के आनलाइन पंजीकरण और कृषि यन्त्रों/उपकरणों के वितरण के मामले में यह जिला अब कृषि विभाग उत्तर प्रदेश की पंजिका में ऐसा स्थान पा चुका है जिसे देखने के उपरान्त हर कोई कृषि विभाग के ग्रास-रूट से लेकर जिलास्तरीय अधिकारियों के योगदान की सराहना किए बिना नहीं रह पाएगा।

एक संक्षिप्त भेंट में उप कृषि निदेशक विनोद कुमार ने कृषि विभाग अम्बेडकरनगर द्वारा अर्जित उपलब्धियों के बावत एक मौखिक व सर्वथा अनौपचारिक जानकारी दिया। जिसके अनुसार यह जनपद कृषि विभाग (उत्तर प्रदेश) की पंजिका में दूसरे स्थान पर है। डी.बी.टी. के माध्यम से भुगतान के मामले में, वित्तीय वर्ष- 2017-18 में योजनाओं के मद में हुए भुगतान, किसानों के आनलाइन पंजीकरण, कृषि यन्त्रों के वितरण के मामले में यह जिला जहाँ दूसरे स्थान पर है वहीं एम पोर्टल पर किसानों को जोड़ने के मामले में यह जिला देश में तीसरे जबकि उत्तर प्रदेश में पहले स्थान पर है। यह एक महत्वपूर्ण विभाग के हाकिम के लिए गौरव की बात है।

रेनबोन्यूज ने कहा कि विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराएँ जिससे उसका प्रकाशन कर अन्य जनपदों के अधिकारियों और किसानों तक एक सन्देश पहुँचाया जाए। ऐसा करने से कृषि उत्पादन व किसानों की समस्याओं तथा सरकारी योजनाओं के सफल क्रियान्वयन हेतु अन्य जनपदों में भी सक्रियता आएगी और प्रतिस्पर्धा की भावना से कार्य किए जाने को बढ़ावा मिलेगा। डी.डी. ए.जी. ने रेनबोन्यूज को कृषि विभाग की उपलब्धियों का आंकड़ा उपलब्ध कराने को कहा है। ऐसा होने पर उसका प्रकाशन किया जाएगा। हमने उप कृषि निदेशक विनोद कुमार से संक्षिप्त भेंट उपरान्त कृषि भवन स्थित विभागीय कार्यालय कक्षों में जाकर अन्य अधीनस्थ सहकर्मियों से जानकारी चाही तो उन सबों ने अपने अनुभवी एवं वरिष्ठ कृषि विज्ञानी डी.डी. ए.जी. की कार्यशैली पर सन्तुष्टि व प्रसन्नता व्यक्त किया। इसके अलावा दूर-दराज से आए कुछेक किसानों से भी बात करने का अवसर मिला तो पता चला कि डी.डी. ए.जी. विनोद कुमार अब तक के सबसे सफलतम अधिकारियों में शुमार हो चुके हैं ऐसा उन किसान बन्धुओं ने कहा। -Reeta



Browse By Tags



Other News