गोवा के शहरी मंत्री ने उत्तर भारतीय पर्यटकों को बताया धरती पर गंदगी
| Rainbow News - Feb 10 2018 1:17PM

पणजी। भाजपा शासित गोवा के शहरी और देश नियोजन मंत्री विजय सरदेसाई ने उत्तर भारतीयों को लेकर विवादित बयान दिया है। विजय सरदेसाई ने एक कार्यक्रम में कहा कि घरेलू पर्यटक धरती की गंदगी हैं। उन्होंने कहा कि यह पर्यटक गोवा को हरियाणा बनाना चाहते हैं। इस बयान के बाद के निशाने पर आ गए हैं। विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने पर्यटन मंत्री को बयान पर माफी मांगने के लिए कहा है। पर्यटन मंत्री ने कहा कि, उत्तर भारतीय गोवा में साफ-सफाई की परवाह नहीं करते हैं, वे हर जगह गंदगी फैलाते हैं।

गोवा बिज फेस्ट में बात करते हुए विजय ने गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के उस बयान से असहमति जतायी जिसमें उन्होंने था कि हर साल एक करोड़ पर्यटकों को आकर्षिक करने का लक्ष्य रखा है। सरदेसाई ने कहा कि गोवा सरकार को विदेशी और उच्च-वर्गीय भारतीयों को आकर्षित करने पर जोर देना चाहिए। विजय ने कहा, आज गोवा की आबादी से ज्यादा यहां पर्यटक हैं। ये घरेलू पर्यटक धरती पर गंदगी हैं।'

उन्होंने कहा कि, दिल्ली, गुड़गाँव और हरियाणा से आने वालों में सामान इधर-उधर फेंकने की प्रवृत्ति होती है। वो चाहते हैं कि अमीर पर्यटक गोवा में ज्यादा आएं ताकि राज्य के गरीबों को उसका लाभ मिल सके। विजय ने उत्तरी भारत पर्यटकों को भारी बाढ़ जैसा बताया और कहा कि हम गोवा को दूसरा गुड़गांव नहीं बनने देना चाहते। मंत्री ने कहा, 'गोवा में आज जो भी समस्या है उसके लिए उत्तर भारतीय राज्य जिम्मेदार हैं।

इन राज्यों से आने वाले लोग वास्तव में गोवा को हरियाणा बनाना चाहते हैं।' आपको बता दें कि, पर्यटकों के कारण गोवा में बढ़ता कचरा एक समस्या बन गया है। एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार सरदेसाई ने कहा, 'ये टूरिस्ट टॉप-एंड टूरिस्ट नहीं होते, उनमें धरती के गए-गुजरे लोग भी होते हैं। इसके लिए वो जिम्मेदार हैं? नहीं वो नहीं हैं। अगर आप गोवावालों की बाकी भारतवालों से तुलना करें तो देखेंगे कि हमारी प्रति व्यक्ति आय, सामाजिक और राजनीतिक जागरूकता बेहतर है।



Browse By Tags



Other News