पहला महिला स्टाफ वाला रेलवे स्टेशन गोविंदपुरी जहां महिला टॉयलेट ही नहीं
| Rainbow News - Mar 9 2018 3:34PM

कानपुर। भारतीय रेलवे ने दुनिया की आधी आबादी को एक ऐसी सौगात दी है जो महिला सशक्तीकरण को बढ़ावा देगी। रेलवे ने उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में एक ऐसा रेलवे स्टेशन दिया है जहां पर सभी जिम्मेदारियां बखूबी महिला कर्मचारी ही निभाएंगी।

पहला महिला स्टाफ वाला रेलवे स्टेशन भारतीय रेलवे द्वारा कानपुर जिले के गोविंदपुरी रेलवे स्टेशन को राज्य का पहला महिला स्टाफ वाला रेलवे स्टेशन घोषित किया गया है। हलांकि, महिला कर्मचारियों की नियुक्ति के लिए तैयारी काफी समय से की जा रही थी जिसे महिला दिवस पर गुरुवार को मूर्त रूप दे दिया गया है। यहां महिलाए ही टिकट काउंटर, टीटीई, सफाईकर्मी व आरपीएफ भी महिला कर्मी ही होंगी।

डीआरएम ने विश्व महिला दिवस के मौके पर इसकी शुरुआत की है। उन्होंने बताया कि ये महिला सशक्तिकरण के लिए एक छोटा सा प्रयास है। उन्होंने बताया कि महिला स्टाफ इस नई जिम्मेदारी को उठाने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

डीआरएम ने बताया कि अभी और साज-सज्जा व जरूरी चीजें इस स्टेशन के लिए की जानी है। वहीं इस अच्छी पहल को शुरू करने के साथ रेलवे एक अहम चीज भूल गया, महिलाओं के लिए टॉयलेट, जो गोविंदपुरी स्टेशन पर नहीं है। जब इस बाबत डीआरएम से पूछा गया तो बोले कि अभी निर्माण कार्य चालू है।



Browse By Tags



Other News