अम्बेडकरनगर: ग्राहकों को लूट रहा है अकबरपुर का 1-इण्डिया फैमिली मार्ट
| Posted by- Editor - Apr 5 2018 1:35PM

1-इण्डिया फैमिली मार्ट जिसका स्लोगन ‘‘फैशन उम्मीद से ज्यादा, दाम उम्मीद से कम’’ है ठीक इसके विपरीत यहाँ खरीददारी करने आने वाले ग्राहकों को लूटा जा रहा है। ग्राहकों द्वारा कई सामानों की एक साथ खरीद करने पर स्टोर/शोरूम के बिलिंग काउण्टर से सामान की कीमत से अधिक का बिल उन्हें पकड़ाया जा रहा है। कुछ ग्राहक जल्दबाजी में बिल देखे बिना ही पैसा देकर चले जाते हैं लेकिन यदि किसी ने देखा और इसका विरोध किया तो बिलिंग काउण्टर से लेकर कंप्यूटर पर बैठने वाले स्टोर/शोरूम के कथित अधिकारी व कर्मचारी ग्राहकों से बदसलूकी और मारपीट पर आमादा हो जाते हैं। यह स्थिति और भी शोचनीय तब हो जाती है जब इस तरह आधुनिक फैमिली मार्ट के स्टोर के कर्मचारियों द्वारा महिला ग्राहकों के साथ अभद्रता की जाती है। ग्राहकों को सन्तुष्ट करने की कौन कहे ये लोग यहाँ आने वाले महिला/पुरूष ग्राहकों का आर्थिक व मानसिक शोषण करते हैं।

उत्तर प्रदेश के जनपद अम्बेडकरनगर स्थित मुख्यालयी शहर अकबरपुर के उपनगर शहजादपुर में स्थित 1-इण्डिया फैमिली मार्ट के स्टोर/शोरूम पर आए दिन यह नजारा देखने को मिलता है। यहाँ खरीददारी करने आने वाला प्रत्येक ग्राहक इस विश्वास में रहता है कि उसके जरूरत के सामान यहाँ उसे मन मुताबिक सन्तोषजनक दाम पर मिल जाएँगे, लेकिन सामान लेने के बाद लम्बे-चौड़े बिल के माध्यम से उससे यहाँ अधिक पैसा वसूला जाएगा यह उसे सामान खरीदने के बाद पता चलता है। ऐसे में जब ग्राहक अपनी शिकायत लेकर बिलिंग काउण्टर पर जाता है तो उसे तरह-तरह की बातें बता कर शान्त कराने का प्रयास किया जाता है।

यदि ग्राहक इससे भी नहीं मानता है तो उसे शोरूम के अन्दर कंप्यूटर पर बैठे कथित अधिकारियों व कर्मचारियों के पास ले जाया जाता है। वहाँ बैठे कर्मचारी ग्राहकों की बातें सुने बिना अपनी ही बात मनवाते हैं और बदसलूकी करते हैं। कुछ ग्राहक तो किसी झंझट में पड़ने से बचने के लिए चुपचाप वापस हो लेते हैं, लेकिन यदि किसी ने विरोध किया और अतिरिक्त दिए पैसे वापस लेने की जिद की तो स्टोर कर्मचारी उनसे बदसलूकी करते हैं और मार-पीट पर आमादा हो जाते हैं। 1-इण्डिया फैमिली मार्ट कर्मचारियों के इस रवैय्ये से इस स्टोर से लोगों को मोह भंग होने लगा है। ग्राहक यहाँ जाने में डरने लगे हैं।

यहाँ व्याप्त जंगलराज को देखकर यह नहीं प्रतीत होता है कि यह कोई बड़ा व आधुनिक व्यावसायिक प्रतिष्ठान है जहाँ ग्राहक को देवो भव माना जाता हो। आधुनिक फैशनेबुल बनने की होड़ में यहाँ खरीददारी करने वाले ग्राहक लूट का शिकार हो रहे हैं।इसी तरह का एक वाकया विगत दिनों पेश आया जब देश की लोकतंत्रीय व्यवस्था में चतुर्थ स्तम्भ कहलाने वाले मीडिया को भी इस स्टोर के कर्मचारियों ने नहीं बख्शा। जिले की एक मात्र सक्रिय महिला पत्रकार द्वारा 1-इण्डिया फैमिली मार्ट से बच्चों के लिए गर्मी के कपड़ों की खरीद पर उसके बिल में रूपए 199 अधिक जोड़कर लिया गया। पत्रकार ने जब घर पहुँचकर कपड़ों और बिल का मिलान किया तो 199 रूपए के जेन्ट्स टी-शर्ट का दाम बिल में अधिक जुड़ा मिला।

चूंकि देर शाम का समय था इस लिए पत्रकार ने दूसरे दिन जाकर अधिक बिल और भुगतान की शिकायत की। जिस पर बिलिंग काउण्टर पर बैठे कर्मचारी उसे स्टोर के अन्दर कंप्यूटर पर बैठे दो कर्मचारियों के पास ले गए। जहाँ लम्बी पूछताछ के बाद कहा गया कि सामान लिया होगा तभी दाम जुड़कर आया है। उन कर्मचारियों द्वारा बार-बार अपनी ही बात मनवाने का दबाव बनाया गया लेकिन महिला पत्रकार के विरोध करने और अपना पैसा लिए बिना स्टोर से न जाने की जिद पर किसी तरह स्टोर कर्मचारी पैसा वापस करने को तैयार हुए। यह उदाहरण तो नमूना मात्र है। इस तरह की घटनाएँ 1-इण्डिया फैमिली मार्ट के स्टोर/शोरूम पर आए दिन देखने/सुनने को मिलती हैं। ग्राहकों से बदसलूक करना, उनसे अधिक पैसा लेकर पैसा वापस न करना और विरोध करने पर अभद्रता व मारपीट पर उतारू हो जाना अकबरपुर शोरूम पर आम बात हो गई है।



Browse By Tags



Other News