अम्बेडकरनगर : फरार चल रहा कुख्यात इनामिया लुटेरा पुलिस गिरफ्त में
| Posted by- Editor - Apr 5 2018 4:40PM

पत्रकारों को जानकारी देते ए.एस.पी. ओम प्रकाश सिंह व क्षेत्राधिकारी भीटी अमर बहादुर

थाना अहिरौली/सर्विलांस टीम द्वारा पकड़े गए लुटेरा मुन्ना लोना पर था 15000 का इनाम
पुलिस टीम को इस कामयाबी पर दिया गया 10000 रूपए का नकद पुरस्कार

अमूमन यह देखा गया है कि मार्च महीना और उसके बाद के महीनों में सरकारी महकमों के आला हाकिम व अन्य अधिकारियों का एक स्थान से दूसरे स्थान तबादला हुआ करता है। ऐसे में ये लोग कुछ कम ही सक्रिय रहकर अपने दायित्वों का निवर्हन करते हैं। परन्तु वर्तमान में कुछ ऐसे महकमें हैं जो इससे इतर हैं। इन महकमों के अधिकारी/कर्मचारी अपने दायित्वों का निवर्हन पूरी निष्ठा, लगन व तन्मयता से करते हैं। उनका मानना शायद यह भी हो सकता है कि दायित्वहीन होना सबसे बड़ी भूल व आने वाले दिनों में उनकी प्रगति में बाधक है।

यहाँ हम जिक्र करेंगे उत्तर प्रदेश के जनपद अम्बेडकरनगर के पुलिस महकमें का। जिसका नेतृत्व युवा आई.पी.एस. अधिकारी सन्तोष कुमार मिश्र कर रहे हैं और इनका सहयोग वरिष्ठ पुलिस ऑफिसर ओम प्रकाश सिंह जो अपर पुलिस अधीक्षक के पद पर तैनात हैं पूरी ईमानदारी, निष्ठा व लगन से कर रहे हैं। यही नहीं इन दोनों जनपद स्तरीय पुलिस अधिकारियों ने विभाग में जिस वातावरण का सृजन किया है उसको देखकर प्रतीत होता है कि महकमें में सभीं एक दूसरे से मित्रवत् भाव रखते हैं। यही कारण है कि इन अधिकारियों के निर्देशों के अनुपालन में हर पुलिसजन अपना दायित्व निवर्हन कर रहे हैं। ऐसा करके उन्हें अवश्य ही सुख-शान्ति एवं गर्व की अनुभूति होती होगी।

जिले के सभी सर्किलों में तैनात पुलिस उपाधीक्षक/क्षेत्राधिकारी, समस्त थानों के थाना प्रभारियों एवं अन्य पुलिस जनों की तत्परता व कर्मठता के चलते अपराधों पर नियंत्रण लग रहा है। ऐसा अपवादों को छोड़कर हर कोई सोच सकता है। पुलिस की मित्र भूमिका इस जिले में अवश्य ही दिखाई पड़ रही है। जिसके बारे में इतना ही कहा जा सकता है कि यहाँ टॉप-टू-बाटम पुलिसजन सम्यक् प्रयास कर रहे हैं। यही कारण है कि अपराध और अपराधियों पर किसी हद तक नियंत्रण लगा है।

बीते वित्तीय वर्ष 2017-18 में अम्बेडकरनगर जनपद की पुलिस को कई महत्वपूर्ण कामयाबियाँ मिलीं और विभाग व सरकार द्वारा अपने उत्कृष्ट कार्यों के लिए जिला पुलिस प्रमुख के हाथों अनेकों पुलिसजन (पुलिस टीम) पुरस्कृत किए गए। इस तरह के पुरस्कार इनके हौंसला-अफजाई के लिए काफी रहे। खरबूजा-खरबूजे को देखकर रंग बदलता है, पुरस्कृत हुए पुलिस जनों के बारे में सोच-सोच कर अनेकों पुलिस जनों ने उत्कृष्ट कार्य करने के लिए अपनी वर्दी को और चुस्त-दुरूस्त कर लिया। जाहिर सी बात है कि जब किसी संस्था का नेतृत्व सुहृदय होगा तो उस संस्था का हर छोटा-बड़ा कार्यकर्ता अवश्य ही अनुशासित ढंग से कार्य करेगा।

गुजरे मार्च महीने की 25 तारीख को एक प्रेस वार्ता आहूत कर पुलिस अधीक्षक सन्तोष कुमार मिश्र ने थोक भाव में पकड़े गए वांछितों/अभियुक्तों की बावत जानकारी दिया था। उस समय इस अवसर उनके साथ अपर पुलिस अधीक्षक ओम प्रकाश सिंह व सी.ओ. भीटी अमर बहादुर (पी.पी.एस.) अधिकारी भी उपस्थित रहे। उसके ठीक 12वें दिन नये वित्तीय वर्ष-2018-19 के प्रथम माह अप्रैल की 5 तारीख को प्रेस कान्फ्रेन्स ऑर्गनाइज कर अपर पुलिस अधीक्षक ने 15000 रूपए के  एक ईनामी कुख्यात लुटेरे को गिरफ्तार करने का दावा किया। यह सफलता जिले के थाना अहिरौली व सर्विलान्स टीम को हासिल हुई जिसकी कमान युवा पी.पी.एस. अधिकारी अमर बहादुर (भीटी क्षेत्राधिकारी) के हाथों में थी।

लुटेरा मुन्ना लोना के पास से बरामद असलहा व रूपए

पकड़ा गया लुटेरा मुन्ना लोना पुत्र लोदई निवासी रजवापुर थाना अहिरौली जनपद आजमगढ़ थाना अकबरपुर के मुकदमा अपराध संख्या-106/17 धारा 394, 411 भादवि व थाना बेवाना के मु.अ.सं- 23/17 धारा-394, 411 भादवि व थाना अहिरौली के मु.अ.संख्या-41/18 धारा- 457, 380, 411 भादवि में वांछित था और एक वर्ष से फरार चल रहा था। पकड़े गए लुटेरे के पास से एक अदद देशी तमंचा 315 बोर, एक अदद जिन्दा कारतूस व एक खोखा कारतूस 315 बोर, चोरी की एक अदद मोटर साइकिल, एक चाँदी की अंगूठी और चोरी व लूट के 5 हजार 900 रूपए बरामद हुए।

इस इनामिया कुख्यात लुटेरे को गिरफ्तार करने वाली टीम में सर्वप्रमुख उपनिरीक्षक/अहिरौली थानाध्यक्ष संजय कुमार सिंह, पुलिस आरक्षी अशोक कुमार सिंह (थाना अहिरौली), अबू हमजा, प्रदीप सिंह, प्रभात मौर्या, पुनीत गुप्ता, सुनील कुमार, विकास ओझा (सभी  पुलिस आरक्षी), उमेश यादव, जितेन्द्र कुमार गौड़ (सर्विलांस सेल आरक्षी) शामिल रहे। पुलिस टीम के इस उत्कृष्ट कार्य (गुड वर्क) पर अपर पुलिस अधीक्षक ओम प्रकाश सिंह ने 10000 रूपए के नकद पुरस्कार की घोषणा किया।



Browse By Tags



Other News