स्कूली वाहनों का भौतिक एवं यान्त्रिक परीक्षण कराना आवश्यक : ए.आर.टी.ओ.
| Posted by- Editor - Apr 7 2018 6:00PM

मानकों को पूरा करने वाले स्कूली वाहनों को ही संचालित करने की दी जाएगी अनुमति : कैलाश नाथ सिंह

अम्बेडकरनगर। अपनी जनसरोकारी एवं विभागीय हित में की जाने वाली कार्यप्रणाली को लेकर हमेशा चर्चा में रहने वाले सहायक परिवहन अधिकारी कैलाश नाथ सिंह को उनके मन मुताबिक कार्य करने का एक अच्छा अवसर और मिल गया है। सर्वोच्च न्यायालय ने देश के शहरी एवं ग्रामीण इलाकों में स्थापित निजी प्रबन्धकीय स्कूलों में संचालित किए जाने वाले वाहनों के लिए मानक निर्धारित किया है। इसके अनुपालन में परिवहन आयुक्त के निर्देशानुसार जिले के सहायक परिवहन अधिकारी ने समस्त स्कूलों के प्रबन्धकों एवं उच्च पदाधिकारियों को पत्र भेजकर वाहनों की जाँच के लिए तिथि, स्थान व समय निर्धारित किया है। सहायक परिवहन अधिकारी के.एन. सिंह द्वारा प्रेषित पत्र दिनांक- 7/4/2018 के अनुसार:-

स्कूली वाहनों के सुरक्षित संचालन एवं छात्रों की सुरक्षा के दृष्टिगत उनके फिटनेस को लेकर सर्वोच्च न्यायालय द्वारा निर्देश दिए जाने के बाद विभाग ने अब उन पर नजर रखना शुरू कर दिया है। स्कूली वाहनों को अब अपने फिटनेस की जाँच करानी होगी। नए शिक्षण सत्र के शुभारम्भ पर परिवहन विभाग अब उक्त मानकों का अनुपालन कराने में जुट गया है। विभाग की ओर से जनपद के शहरी समेत ग्रामीणांचल में चलने वाले सभी स्कूलों को सख्त आदेश जारी करते हुए स्कूली वाहनों में सुरक्षा के मानकों को पूरा किए जाने के लिए निर्देशित किया गया है। मानकों को पूरा न करने की दशा में परिवहन विभाग चेकिंग के दौरान सख्त कार्रवाई करेगा।

सहायक परिवहन अधिकारी ने प्रेषित पत्र में कहा है कि वाहनों के भौतिक एवं यान्त्रिक परीक्षण के लिए विभाग ने 8 अप्रैल दिन रविवार को हवाई पट्टी अकबरपुर पर सुबह 10 बजे से अपरान्ह 2 बजे तक का समय निर्धारित किया है। इस दौरान कतिपय कारणों से जिन स्कलों के वाहन परीक्षण के लिए नहीं आ पाते हैं वे 15 अप्रैल दिन रविवार को उक्त स्थान व समय पर परीक्षण अवश्य करा लें अन्यथा की स्थिति में विद्यालय प्रशासन स्वयं जिम्मेदार होगा और जाँच के दौरान वाहन अनफिट पाए जाने पर उन पर कठोर कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। पत्र में कहा गया है कि वाहनों के स्कूलों में संचालन से पहले उनका भौतिक एवं यान्त्रिक परीक्षण कराना अनिवार्य है। मानकों को पूरा करने वाले स्कूली वाहनों को ही संचालित करने की अनुमति दी जाएगी। 



Browse By Tags



Other News