इमरजेंसी की याद दिलाती है दलितों की झूठी गिरफ्तारी : मायावती
| Rainbow News - Apr 8 2018 5:42PM

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने एससी-एसटी ऐक्ट में बदलाव के विरोध में भारत बंद के दौरान भड़की हिंसा के लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया है। बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने दावा किया कि भारत बंद सफल होने के कारण बीजेपी डर गई है और अब दलितों पर उत्पीड़न शुरू हो गया है। मायावती ने आरोप लगाया कि बेकसूर दलितों को झूठे केस में फंसाया जा रहा है।

मायावती ने कहा कि भारत बंद के दौरान साजिश के तहत तोड़फोड़ और आगजनी की गई। उन्होंने यह भी दावा किया कि भारत बंद पूरी तरह सफल रहा और इस प्रदर्शन ने बीजेपी को डरा दिया है। उन्होंने आरोप लगाया कि इस प्रदर्शन के बाद बीजेपी शासित राज्यों के प्रशासन ने दलितों पर अत्याचार शुरू कर दिया है।

केंद्र की मोदी सरकार और राज्य की योगी सरकार पर निशाना साधते हुए मायावती ने आरोप लगाया कि बेकसूर लोगों को पकड़ पुलिस पकड़ रही है। कई दलितों और उनके परिवारवालों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी दलितों और आदिवासियों को कुचलने की कोशिश कर रही है। इस दौरान उन्होंने दलितों से अपील की कि वे अपने उत्पीड़न के खिलाफ कोर्ट जाएं।

पिछले दिनों में योगी सरकार के खिलाफ यूपी के दलित सांसदों द्वारा पीएम मोदी को लिखे शिकायती चिट्ठियों को मायावती ने ढकोसला बताया। उन्होंने कहा कि ये स्वार्थी मानसिकता वाले नेता हैं और दलित समाज के लोग इन्हें बखूबी समझते हैं। मायावती ने दावा किया कि दलित समाज के लोग आने वाले चुनावों में इन सांसदों को माफ नहीं करने वाले।

मायावती ने आरोप लगाया कि बीजेपी की सरकारें दलितों के प्रदर्शन से डर गई हैं और उन्हें परेशान करने के लिए झूठे केस दर्ज कर रही हैं। मायावती ने दावा किया कि उनकी सरकार आई तो सभी झूठे केस वापस होंगे।



Browse By Tags



Other News