लखनऊ : डाकू मलखान सिंह का परपोता लूट के माल के साथ गिरफ्तार
| Rainbow News - Apr 28 2018 4:12PM

लखनऊ। यूपी के आतंक का पर्याय बन चुके डाकू मलखान सिंह के प्रपौत्र को भी पुलिस ने चेन लूट के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। मलखान सिंह के प्रपौत्र अजय सिंह को लखनऊ की पुलिस ने चेन लूट के आरोप में आलमबाग में गिरफ्तार कर लिया है। अजय सिंह के साथ आलमबाग स्थित एक सर्राफा व्यापारी को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दोनों के पास लूट की चेन के अलावा इलेक्ट्रॉनिक तराजू भी बरामद की गई है।

घटना की जानकारी देते हुए एएसपी उत्तरी अनुराग वत्स ने बताया कि अजय हैंडबाल का राज्य स्तरीय खिलाड़ी था। वह पिछले एक साल से लखनऊ और कानपुर में लूट कर रहा था। आपको बता दें कि अजय सिंह कानपुर के बर्रा का रहने वाला है और वह मलखान सिंह के बेटे का रुस्तम सिंह के पौत्र है। अजय के पिता विजय सिंह की कैंसर की वजह से मौत हो गई थी। वत्स ने बताया कि अजय अकेले ही लूट की घटना को अंजाम देता था।

उसने लखनऊ में आशियाना, कैंट, चारबाग, आलमबाग इलाके में कई लूट की घटनाओं को अंजाम दिया है। सीसीटीवी फुटेज से खुली पोल दरअसल जब पुलिस ने जिस दुकान में लूट हुई थी उसकी सीसीटीवी फुटेज देखी तो उसे पता चला कि अजय सिंह भी घटनास्थल के पास था। जिसके बाद पुलिस ने उसकी तलाश शुरू कर दी थी। शुक्रवार को जब अजय सिंह स्मृति वाटिका के गेज पर सर्राफा व्यापारी आकाश का इंतजार कर रहा था तभी पुलिस ने उसे धर दबोचा। मौके पर अजय के पास से लूटी हुई तीन चेन और पॉकेट इलेक्ट्रॉनिक तराजू के अलावा कैश भी बरामद किया गया है।

70 के दशक में कुख्यात डकैत था मलखान सिंह आपको बता दें कि 70 के दशक में डकैती के लिए कुख्यात मलखान सिंह ने मध्य प्रदेश में अर्जुन सिंह की सरकार के दौरान आत्मसमर्पण कर दिया था। जिसके बाद वह सरकार की ओर से दी गई जमीन पर खेती करने लग गया था और फिर उसने अध्यात्म का रुख कर लिया। मलखान सिंह के गिरोह पर 32 पुलिसवालों सहित 185 लोगों की हत्या का आरोप है। वर्ष 2014 में मलखान सिंह ने भाजपा का प्रचार किया था जिसके बाद वह सुर्खियों में आया था।



Browse By Tags



Other News