कोलकाता में सड़े मांस परोसे जाने को लेकर चल रहे विवाद पर चंद पंक्तियां
| -Tarkesh Kumar Ojha/ - May 6 2018 4:19PM

जब चली खांटी खड़गपुरिया की कलम...

खाते हैं सड़े मांस शौक से
ताजे फल खाने को तैयार नहीं
शराब बिकती गली-गली मगर
दूध पीने को कोई तैयार नहीं
जख्म देने वाली चीजें मंजूर है मगर
कड़वी दवा पीने को कोई तैयार नहीं



Browse By Tags



Other News