ए.आई.डी.एस.ओ. ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रावासों को अचानक खाली कराए जाने का किया विरोध
| Rainbow News - Jun 6 2018 3:38PM

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रावासों को अचानक खाली कराए जाने का विरोध कर रहे विश्वविद्यालय के छात्रों पर पुलिस द्वारा बर्बर लाठीचार्ज का ए.आई.डी.एस.ओ. छात्र संगठन की उत्तर प्रदेश राज्य कमेटी पुरजोर विरोध करती है। संगठन के राज्य सचिव- दिलीप कुमार ने छात्रों पर बेरहमी से किए गए पुलिसिया जुल्म को अमानवीय कृत्य बताया। उन्होंने कहा कि, यह घटना लोकतंत्र की जर्जरता को साबित करती है।

बात-बात पर पुलिस द्वारा लाठीचार्ज व तानाशाही फरमान जनवादी प्रक्रिया को ध्वस्त कर रहा है और प्रशासनिक फासीवाद को बढ़ावा दिया जा रहा है। बातचीत व चर्चा- बहस का माहौल खत्म होता जा रहा है ।जिम्मेदार पदेन कुलपति, प्रशासनिक अधिकारी व शासन-प्रशासन छात्रों की आवाज को नहीं सुन रहा है, उल्टे छात्रों के हक व अधिकार को लाठी -गोली से दबाने की कोशिश कर रहा है। जब इस भीषण गर्मी में टेस्ट व कई प्रतियोगी परीक्षाओं की जिम्मेदारी छात्रों पर हो तो ऐसे समय में हॉस्टल खाली कराने का तुगलकी फरमान जारी कर छात्रों को बेघर किया जा रहा है, छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है, जो एकदम अलोकतांत्रिक और तानाशाहीपूर्ण है।

छात्रों की बातचीत के शांतिपूर्ण रवैये को विश्वविद्यालय प्रशासन लाठी से जवाब दे रहा है और छात्र आंदोलन को उग्र बना रहा है, जो घोर निंदनीय है। संगठन मांग करता है कि घटना की उच्चस्तरीय जांच कराई जाए, दोषी पुलिसकर्मियों को दंडित किया जाए, निर्दोष छात्रों को तुरंत रिहा किया जाए व मुकदमे वापस लिए जाए, छात्र आंदोलन में पुलिस हस्तक्षेप बंद किया जाए, विश्वविद्यालय परिसर में शैक्षणिक माहौल कायम किया जाए, छात्रों की हर मांग पर गंभीरता से विचार कर उसे पूरा किया जाए।

-यादवेन्द्र  

(कार्यालय सचिव)

ए.आई.डी.एस.ओ. (उत्तर प्रदेश)



Browse By Tags



Other News