AMJSWA की अगुवाई में गौ संरक्षण महाभियान "सांसद से संसद तक महाआंदोलन" का हुआ आगाज
| Rainbow News - Jun 6 2018 4:07PM

-793 लोक व राज सभा सांसदों को जनसमूह के माध्यम से देंगे ज्ञापन

-गौ वंश को राष्ट्रिय पशु बनाने हेतु संगठन की अंतराष्ट्रीय समिति भी चलाएगी अभियान

कोलकाता/ इंदौर/ उज्जैन/ मुंबई/ अहमदाबाद/ न्यूजर्सी : आल मीडिया जर्नलिस्ट सोशल वेलफेयर एसोसिएशन (AMJSWA) के गौ संरक्षण प्रकोष्ठ द्वारा संस्थापक स्व. श्री अशोक जी लुनिया के सपने को जिवंत रूप देते हुए अंतराष्ट्रीय अध्यक्ष विनायक अशोक लुनिया (कोलकाता) एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष सचिन कासलीवाल (उज्जैन) की अगुवाई में गौ वंश को राष्ट्रीय पशु घोषित करने एवं गौ संरक्षण व पालन पोषण से जुड़े मुद्दे पर देश के सर्वोच्च सदन लोकसभा एवं राज्यसभा में बिल पारित करने हेतु देशभर के 543 लोकसभा एवं 250 राज्यसभा सांसदों को स्थानीय संसदीय क्षेत्रों से गौरक्षकों के मय हस्ताक्षर वाले ज्ञापन पत्र देते हुए सदन में मुद्दा बनाने एवं बिल पारित करने की मांग किया जा रहा है. आंदोलन का संचालन देशभर से जुड़े संगठन कार्यकर्ताओं के साथ ही सकल गौ वंश प्रेमियों के द्वारा किया जा रहा है. आंदोलन प्रचारक चरणजीत अहिरवार (शिवपुरी) ने जानकारी देते हुए बताया की "सांसद से संसद तक महाआंदोलन" का नारा वर्ष 2016 में संगठन के संस्थापक स्व. अशोक जी लुनिया ने दिया था वहीँ पिता के स्वर्गवास के बाद पत्रकार विनायक अशोक लुनिया द्वारा उक्त आंदोलन को जिवंत रूप दिया जा रहा है.

उक्त आंदोलन में देशभर से जहाँ लाखों की तादात में जन समूह जुड़ रहा है वहीँ देश के विभिन्न क्षेत्रों से मुख्य धारा के रूप में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष - वरुण ठुकराल (इंदौर), मनीष कुमट (झाबुआ), राष्ट्रीय महासचिव - अमित आदित्य सान्याल (कोलकाता), राष्ट्रीय सचिव - प्रवीण दक (बैंगलोर), सत्येंद्र जैन (भोपाल), शैलेश दीक्षित (कानपूर), प्रवीण सिंघवी (मुंबई), मनोज भारद्वाज (जबलपुर), नितिन जैन (लुधियाना), उमेश अग्रवाल (नेहु मेवात, हरियाणा), सुदीप मेहता (उज्जैन), राष्ट्रीय प्रवक्ता - शिव चौरसिया (जबलपुर), प्रभारी सदस्य - ध्रुबज्योति सेनगुप्ता (कोलकाता), विशाल जैन (सिलीगुड़ी), नेमीचंद सोलंकी (अहमदाबाद), नीरज जैन (दमोह), नितिन जैन (टीकमगढ़), लोकेश जैन (सूरत),रमेश ओसवाल (पुणे), श्रीमती सारिका जैन (दिल्ली), विनोद जैन (रायपुर), रविंद्र कुमार जैन (दिल्ली), रवि शर्मा (मंडी, हिमाचल), रवि पाल (मथुरा), ज्योति प्रसाद (किशनगंज, बिहार), देवेंद्र जैन (फारबिसगंज), प्रभात जैन (असाम) निर्जन चौधरी (सिलीगुड़ी), श्रीमती सुब्रा चौधरी (सिलीगुड़ी) मिस्बाहुल हसन वारसी (लखनऊ) आदि के साथ ही अंतराष्ट्रीय स्तर पर अंतराष्ट्रीय उपाध्यक्ष आदित्य नारायण बैनर्जी ( न्यू जर्सी, USA), कार्यकारणी सदस्य - ऋतिक मुखर्जी (कोलकाता, इंडिया), सुजानमल जैन (नेपाल), श्रीमती आशा जैन (जापान), हसमुख भाई (लंदन) आदि आंदोलन का संचालन की मुख्य धारा में शामिल है,
                श्री अहिरवार ने आगे बताया की 22 मई 2018 से आंदोलन पुनः प्रारम्भ होकर देशभर में हस्ताक्षर अभियान चलाया जा रहा है जहाँ प्रत्येक संसदीय क्षेत्र से एक लाख से अधिक गौ रक्षकों के हस्ताक्षर करवाकर स्थानीय सांसदों को ज्ञापन दिया जायेगा. तो वहीँ ज्ञापन सत्र के समापन के पश्चात् प्रत्येक संसदीय क्षेत्र से प्रतिनिधि मंडल दिल्ली में संसद के समक्ष अपने मांग को लेकर पहुंचेगी.

यह है मांग

1 - गौ वंश को राष्ट्रीय पशु घोषित करें।
2 - गौ संरक्षण बिल में संशोधन कर निचे दर्शाये निम्न कानून पारित करें -
(2. 1) - गौ वंश को किसी भी प्रकार से क्षति पंहुचाने वाला राष्ट्रद्रोह कि श्रेणी में आयेगा एवं उस पर राष्ट्रद्रोह का मुकदमा चलाया जायेगा।
(2. 2) - गौवंश कि तस्करी करने वाले को भी गौवंश को क्षति पहुंचाना माना जायेगा।
(2. 3) - गौ वंश के मृत्यु उपरांत गौवंश का चमड़ा ना उतारते हुए गौ वंश का विधि पूर्वक अंतिम क्रिया सम्पन्न किया जाये।
(2. 4) - गौवंश के रख रखाव के लिए प्रत्येक शहर में विकसित रहवासी कॉलोनीयों में पांच गौवंश आवास कि व्यवस्था करवायी जाये जिससे धार्मिक एवं वैज्ञानिक मान्यतानुसार गौवंश के सम्पर्क में हम प्रतिदिन आ सके।
(2. 5) - गौवंश के रख रखाव एवं पालन पोषण के लिए गौ संरक्षण टेक्स के रूप में प्रति नागरिक एक रूपये प्रतिदिन या 30 रूपये प्रतिमाह का टेक्स निधारित कर लागू किया जाये एवं इस टेक्स का उपयोग गौवंश के पालन पोषण एवं उपचार व शौद्य कार्यो में किया जाये एवं उक्त टेक्स के संचालन हेतु शासकिय एवं सामाजिक तालमेल आयोग का गठन हो और प्रतिवर्ष आय व्यय कि पूर्ण विवरण स्थानिय करदाता के लिए उपलब्ध करवाया जाये। जिससे गौ पालन के क्षेत्र में जन समूह का योगदान प्राप्त हो।
(2. 6) - अंग्रेजी (एलोपेथी), आयुर्वेदीक, होम्योपेथीक एवं अन्य थेरेपीयों के तरह गौ थेरेपी को मान्यता प्रदान कर उपचार थैरेपी को प्रोहत्साहीत करने हेतु शासकिय योजना बने।

होगा फिल्म "जियो और जीने दो" का प्रदर्शन

स्व. अशोक जी लुनिया के द्वारा अम्बाजी म्यूजिक प्रोडक्शन के बैनर तले निर्मित गौ हत्या पर केंद्रित मार्मिक गीतों व कहानी से सुसज्जित हिंदी फीचर फिल्म "जियो और जीने दो" का भव्य प्रदर्शन कर गौ रक्षा के प्रति लोगो को जागरूक किया जायेगा.

"गीता बाइबल कहे कुरान, वेद कहे यही कहे पुराण" गीत की होगी अहम् भूमिका

सांप्रदायिक एकता के साथ गौ संरक्षण के लिए आंदोलन के लिए फिल्म जियो और जीने दो का गीता बाइबल कहे कुरान वैद कहे यही कहे पुराण अल्लाह इशू नानक के संग गौ माता में बेस भगवन गीत से सभी धर्म में सांप्रदायिक शांति उत्पन्न करते हुए आंदोलन को मूर्त रूप देने का प्रयास किया जायेगा.

सांप्रदायिक एकता के साथ संचालित होगा आंदोलन

आंदोलन में सभी धर्म के लोगो को सामान सम्मान प्रदान कर सभी धर्म प्रतिनिधियों की अगुवाई में आंदोलन किया जायेगा जिससे सभी धर्म में सांप्रदायिक एकता बरक़रार रहे.

-आल मीडिया जर्नलिस्ट सोशल वेलफेयर एसोसिएशन



Browse By Tags



Other News