नालंदा : कलेक्टर ने की समीक्षा बैठक, लिया निर्णय, दिया आवश्यक निर्देश
| Rainbow News - Jun 7 2018 12:37PM

बिहार शरीफ। नालंदा में बाढ़ से बचाव एवं बाढ़ आ जाने की स्थिति में किए जाने वाले सभी तरह के राहत कार्यों के लिए अभी से कार्ययोजना बना लेने का निर्देश दिया गया है। इसमें स्थानीय जनप्रतिनिधियों से समन्वय बनाकर काम करें। जिलाधिकारी डॉक्टर त्यागराजन एस एम ने अस्थावां प्रखंड में बाढ़ से बचाव एवं सात निश्चय तथा खुले में शौच मुक्त अभियान की संयुक्त समीक्षात्मक बैठक में उक्त निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि अगर कहीं पर बांध अथवा किसी खाँड़ की मरम्मती अभी भी बाकी है, तो उसे जल्दी पूरा कर लिया जाए।  पूर्व में बाढ़ की क्या स्थिति रही है. इस संबंध में स्थानीय लोगों से भी बात किया जाए एवं उस अनुभव को  ध्यान में रखते हुए, उसके अनुरूप कार्य योजना बनाई जाए। बैठक में उपस्थित जनप्रतिनिधियों ने भी अस्थवां क्षेत्र में नदियों की स्थिति एवं वहां बांधों की मरम्मती से संबंधित किए जाने वाले कार्य के बारे में बैठक में अपने विचार रखें।

पी एफ एम एस के माध्यम से सीधे लाभुको के खाते में राशि भेजने के लिये सूची सत्यापन खाता, आधार आदि के सत्यापन में विशेष सतर्कता रखने को कहा गया। सात निश्चय की समीक्षात्मक बैठक में जिलाधिकारी ने प्रखंड में चल रहे हर घर नल का जल, पक्की नाली गली एवं खुले में शौच मुक्त अभियान की गति को और तेज कर लेने की जरूरत बताई । उन्होंने कहा कि खुले में शौच मुक्त कार्यक्रम के तहत अब एक नए अभियान के रूप में शौचालय निर्माण कार्य को गति देने की जरूरत है । लोगों में व्यापक स्तर पर जागरूकता कार्यक्रम चलाया जाना है।

उन्होंने सुबह एवं शाम में किए जाने वाले ट्रिगरिंग कार्यक्रम को जारी रखने एवं लोगों के व्यवहार में परिवर्तन के लिए जागरूकता के सभी साधनों का इस्तेमाल करने को कहा। जिलाधिकारी ने कहा कि लाभुकों को प्रेरित किया जाए कि वह अपना शौचालय स्वयं बनावें। जैसे ही वार्ड के सभी लोग शौचालय बना लें ,उनका भुगतान भी तुरंत किया जाए। शौचालयों की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने को कहा गया । जनप्रतिनिधियों से भी कहा गया कि वे भी लोगों को प्रेरित करें कि गुणवत्ता के साथ-साथ शौचालय निर्माण हो तथा लोग इसका नियमित रूप से प्रयोग करें।

सात निश्चय के तहत हर घर नल का जल एवं पक्की नाली गली से संबंधित पूर्व से चल रही योजनाओं को जल्दी पूरा कर लेने के लिए कहा गया। इन योजनाओं को विभागीय मानक एवं मानदंड के अनुरूप क्रियान्वित करने का निर्देश दिया गया। जिन पंचायतों में अभी तक योजनाएं नहीं ली गई है उनके लिए भी नई योजनाओं का चयन करने संबंधी कार्यवाही करने को कहा गया।

जिला के सभी प्रखंडों के वरीय प्रभारी पदाधिकारियों ने भी अपने-अपने प्रखंडों में बाढ़ संभावित बाढ़ से बचाव एवं बाढ़ आने की स्थिति में राहत कार्यों से संबंधित बनाई गई कार्य योजना पर स्थानीय जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों के साथ विचार विमर्श किया अस्थावां में हुए समीक्षात्मक बैठक में आपदा प्रबंधन विभाग के प्रभारी पदाधिकारी संजय कुमार ,प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी अस्थावां, स्थानीय अधिकारी एवं जनप्रतिनिधिगण आदि उपस्थित थे।

रिपोर्ट- संजय कुमार



Browse By Tags



Other News