बंगले के टाइल्स उखाड़ने, पौधे ले जाने के आरोप पर अखिलेश यादव ने तोड़ी चुप्पी
| Rainbow News - Jun 9 2018 5:18PM

मीडिया में ऐसी खबरें थीं कि अखिलेश ने सीएम आवास खाली तो कर दिया था लेकिन उनमें लगी टाइल्स और विदेशी पौधे वह अपने साथ उठाकर ले गए। इस आरोप पर अखिलेश ने अपनी चुप्पी तोड़ी है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अखिलेश ने सीएम आवास खाली कर दिया था, जिसके बाद राज्य संपत्ति विभाग ने आरोप लगाया था कि अखिलेश यादव ने बंगला खाली करने से पहले कई जगह तोड़फोड़ की। वह अपने साथ टाइल्स और पौधे भी ले गए। परिवार के साथ वृंदावन पहुंचे अखिलेश यादव ने कहा कि लोगों और मीडिया बंगले में जाना चाहिए और वहां की एक एक चीज दिखानी चाहिए।

मैं सरकार से यह कहूंगा कि वह मुझे बताएं कि उनका कौन सा सामान टूट गया है कौन सा सामान चला गया है। किसी को बदनाम करना अगर सीखना है तो बीजेपी से सीखें BJP वाले बहुत होशियार हैं लेकिन ऊपरवाला देख रहा है। जनता भी देख रही है सब उनको सजा मिलने वाली है जहां तक हमारा घर है उसको आप देखिए वहां हमारे पेड़ छूट गए आमला और हम रूठ गए कृष्ण भगवान के हमने पेड़ लगाए थे कदम छूट गया। अखिलेश यादव शनिवार को अपने परिवार के साथ वृंदावन पहुंचे। वृंदावन पहुंचे पर पार्टी कार्यकर्ताओं ने उनका जोशीला स्वागत किया।

कार्यकर्ताओं के स्वागत के बाद अखिलेश यादव वीआईपी पार्किंग से होते हुए बिहारी जी के मंदिर पहुंचे। बांके बिहारी मंदिर पहुंचने के बाद उन्होंने भगवान बांके बिहारी के समक्ष अपना सिर झुका कर अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। अखिलेश यादव के साथ उनकी पत्नी डिंपल यादव व बेटियां भी मौजूद थी। करीब 20 मिनट तक अखिलेश यादव बांके बिहारी मंदिर में रहे और भगवान को हाथ जोड़कर एक तक लगाकर निहारते रहे सेवायतों ने उन्हें प्रसादी भेंट की। बांके बिहारी दर्शन करने के बाद मीडिया से रूबरू होते हुए इशारों इशारों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ इशारा करते हुए कहां परिवार के साथ आया हूं मैं तो यही चाहता हूं कि सभी लोग परिवार के साथ आएं। अकेली ना आए और लोगों से भी कहो कि वह अपने परिवार के साथ आएं मैं तो चुनाव नहीं लड़ूंगा लोहिया जी का क्षेत्र है उसको कैसे छोड़ दूं मैं समाजवादी धरती कैसे छोड़ दूं अगर बिहारी जी का आशीर्वाद कहीं ना कहीं वह यात्रा ऐसी होनी चाहिए।

जहां पर भगवान कृष्ण ने जन्म लिया हो जहां बसे हो और जहां प्राण त्यागे हो कहीं रिश्ता उसका दोबारा मजबूत करना चाहिए शायद समाजवादी लोग इस रिश्ते को मजबूत करेंगे। बंगला खाली करने के मुद्दे पर अधिकारियों पर साधा निशाना। कहा अधिकारी जान लें सरकारें आती जाती रहती है। हमने बहुत से अधिकारियों को कप प्लेट उठाते देखा है। वही चीफ सेक्रेटरी पर लगे आरोपों पर बोलते हुए कहा उसकी जांच चीफ सेक्रेटरी नहीं कर सकते मामला एक ही दिन में खत्म हो गया। अखिलेश ने समाजवादी पार्टी के काम को भी बताया। उन्होंने कहा कि सड़क को चौड़ा करना स्ट्रीट लाइट लगावाने जैसे काम किए थे। विधवाओं की पेंशन समाजवादी पेंशन और सरकारी बसों में जहां जाना चाहे वह सुविधा दी थी और जो कृष्ण भगवान के समय के पेड़ थे और मोर के लिए भी अच्छी व्यवस्था करने का काम किया था।

शायद वह काम पूरा होगा अगर वह काम पूरा नहीं होगा तो बिहारी जी देख रहे हैं। डिजिटल इंडिया वाले लोग हैं डिजिटल से भेज दे। यह लोग गाय से राजनीति शुरु किए थे गंगा है सड़क के किनारे पॉलिथीन खाते हुए घूम रही है अर्जुन स्वच्छ भारत का सपना था वह गाय मां के बिना संभाले नहीं हो सकता स्वच्छ भारत। 2019 का चुनाव जरूरी है। अखिलेश पर लगा था ये आरोप राज्य संपत्ति विभाग ने आरोप लगाया है कि अखिलेश यादव ने बंगला खाली करने से पहले कई जगह तोड़फोड़ की। उन्होंने सरकारी बंगले पर सजावट के लिएकरोड़ों रुपया खर्च किया था और इसमें सुख सुविधाओं का हर इंतजाम किया गया था। लेकिन इसे खाली करते वक्त बुरी तरह से उजाड़ दिया गया है। बता दें कि बंगल में लगे इटालियन मार्बल, बाथरूम की फिटिंग्स उखाड़ दी गईं। बता दें कि इस बंगले में विदेशी टाइल्स, जिम और विदेशी पौधों को सरकारी खर्च पर लगाया गया था उन्हें भी उजाड़ दिया गया।



Browse By Tags



Other News