कृषक आशाराम यादव 700 से अधिक फलदार वृक्षों का कर रहे हैं संरक्षण
| Rainbow News - Jun 21 2018 1:50PM

टीकमगढ़। टीकमगढ़ जिला के ग्राम पहाड़ी तिलवारन सूरजपुरा के रहने वाले श्री आशाराम यादव जो कि जनपद पंचायत क्षेत्र  से जनपद सदस्य भी है उनका कुऑ और खेत टीकमगढ- महरौनी मुख्य सड़क से लगा हुआ है। जिसमें वह अपनी खेती करते है साथ ही दो एकड़ भूमि में वह र्प्यावरण संरक्षण को लेकर फलदार वृक्षों का रोपण कर भारत सरकार की पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा दे रहे है लेकिन आज तक न तो कृषि विभाग या अन्य किसी पर्यावरण विभाग की ओर से उन्हे किसी भी प्रकार की सहायता या प्रोत्साहित नही किया गया है।

बुन्देलखण्ड क्षेत्र के सामाजिक कार्यकर्ता श्री संतोष गंगेले कर्मयोगी गत दिवस टीकमगढ से महरौनी जन जाग्रति जागरूकता के लिए निकले, उन्हेाने मनमोहन फलदार बृक्षों को देखा अपनी दो पहिया बाहन को रोकर किसान की जानकारी ली। आषाराम यादव के पुत्रगण  संतोष यादव, षिषुपाल यादव भतीजे भूपेन्द्र यादव खेतों में पानी लगाने नजर आये उन्होने बागवानी बगीचा के बारे में जानकारी ली उन्होने बताया कि दो खैंतों में लगभग 400 अमरूद के पौधे रोपे गये, दो सौ ऑवला एवं सौ से अधिक अनार के पौधा रोपकर यह बगीचा तैयार किया गया। जिस बगीचा में आशाराम यादव का पूरा परिवार मेहनत करता है और फलदार पौधों की सुरक्षा और संरक्षण में लगा है।

इस अवसर पर गल्ला गौदाम के कर्मचारी श्री मंगल सिंह राय, श्री रमेष चन्द्र दोहरे, राजमिस्त्री श्री भागीरथ, गोरे लाल ने बताया कि इस बगीचा में भीषण गर्मी और पानी के आभाव के वाद श्री आषाराम यादव को परिवार फलदार वृक्षों के संरक्षण में लगा है ं इस अवसर पर बुन्देलखण्ड क्षेत्र के सामाजिक कार्यकर्ता श्री संतोष गंगेले कर्मयोगी ने किसानी के साथ साथ पर्यावरण संरक्षण करने वाले किसान समाज को मार्गदर्षन देने वाले किसान भाईयों का बगीचा में ही पुष्पमाला पहनाकर उनका सम्मान किया तथा उनके मेहनत और लगन के कार्यो की सराहना कर सभी को प्रोत्साहित किया गया।

बुन्देलखण्ड क्षेत्र के सामाजिक कार्यकर्ता श्री संतोष गंगेले कर्मयोगी मूल रूप से नौगाव के रहने वाले है लेकिन वह समाज सुधारने एवं भारतीय संस्कृति, संस्कारों को बचाने, पर्यावरण, बेटी बचाओं- बेटी पढ़ाओं, स्वच्छ भारत अभियान, नषा मुक्ति, दहेज एक कंलक है, दुघर्टनाओं को रोकने केलिए अपनी निजी वाहन से स्व्यं  का धन खर्च कर सामाजिक कार्यो के लिए समूचे बुन्देलखण्ड में विगत एक दसक से जन जागरूकता के कार्यो से जुडे़ है। इन्हे ऐसे सामाजिक कार्यो के लिए प्रदेष वं राष्ट्रीय स्तर पर सामाजिक संस्थाओं, केन्द्रीय मंत्रीओं के हाथों सम्मानित होने का भी गौरव हासिल हुआ है।

Report- सन्तोष गंगेले ‘कर्मयोगी’



Browse By Tags



Other News