अकबरपुर नपाप में करोड़ों रूपए के भ्रष्टाचार की जाँच तटस्थ एजेन्सी से कराने की उठी मांग
| Rainbow News - Aug 9 2018 3:03PM

जाँच अधिकारी नपाप के ई.ओ. स्वयं भ्रष्टाचार में संलिप्त: गौरव श्रीवास्तव

मुख्यमंत्री को भेजे गए शिकायती पत्र में जाँच अधिकारी बदलने की मांग

अम्बेडकरनगर की अकबरपुर नगर पालिका परिषद में विगत महीने लगभग 87 लाख रूपए के कथित भ्रष्टाचार का मामला चर्चा का विषय बना हुआ है, जिसमें पूर्व में निर्मित सड़क व कुओं के निर्माण हेतु निविदा प्रकाशित कराने को लेकर वार्ड नम्बर 24 के सभासद ज्ञान कुमार मोदनवाल द्वारा उक्त के खिलाफ मोर्चा खोला गया है। इस कथित भ्रष्टाचार को संज्ञान में लेते हुए जिलाधिकारी ने इसकी जाँच अधिशाषी अधिकारी नपाप अकबरपुर को सौंपी है, जिसको लेकर शिकायतकर्ताओं में काफी असन्तोष व्याप्त है। उक्त के बावत गौरव श्रीवास्तव नगर महामंत्री भाजपा/सभासद अकबरपुर अम्बेडकरनगर ने मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश शासन को पत्र भेजकर मांग किया है कि भ्रष्टाचार में अधिशाषी अधिकारी नपाप अकबरपुर सुरेश कुमार मौर्य भी संलिप्त हैं ऐसे में तटस्थ जाँच कैसे सम्भव है? गौरव श्रीवास्तव का कहना है कि अकबरपुर नपाप के जिम्मेदार ओहदेदारों द्वारा किए गए लाखों/करोड़ों के घपले की किसी तटस्थ एजेन्सी द्वारा उच्च स्तरीय जाँच कराई जानी चाहिए।

अकबरपुर नगर पालिका परिषद में व्याप्त भ्रष्टाचार का विरोध करने वाले ज्ञान कुमार मोदनवाल, सभासद/भाजपा नगर अध्यक्ष अकबरपुर ने मुख्यमंत्री, नगर विकास मंत्री, अनेकानेक उच्चाधिकारियों व जिलाधिकारी अम्बेडकरनगर को 19 जुलाई 2018 को प्रेषित पत्र में लिखा है कि नपाप अकबरपुर में पूर्व से निर्मित सड़कों/कुओं का निर्माण कराए जाने के लिए गुपचुप तरीके से स्थानीय समाचार-पत्रों में निविदा प्रकाशित कराकर फर्जी भुगतान कराये जाने की तैयारी चल रही है। इस निविदा को नगर पालिका की वेबसाइट पर नहीं डाला गया है।
वार्ड नम्बर 24 के सभासद ज्ञान कुमार मोदनवाल ने अपने चार बिन्दु वाले शिकायती-पत्र में लिखा है कि उक्त निविदा को निरस्त किया जाए और इसकी उच्च स्तरीय व स्थलीय जाँच कराई जाए। मोदनवाल ने लिखा है कि-

1.    निविदा सूचना पत्रांक संख्या- 201/निविदा-निर्माण (2018-19) दिनांक 09-07-2018 के द्वारा प्रकाशित की गई, जिसमें निविदा की विक्रय दिनांक 24.07.2018 तथा डालने का दिनांक- 25.07.2018 रखा गया है। उक्त निविदा में कुल- 14 कार्यों का उल्लेख है, जिसमें सभी सड़कें/कुआँ पूर्व में निर्मित एवं वर्तमान में अच्छी स्थिति में हैं।
2.    निविदा सूचना पत्रांक संख्या- 212/निविदा-निर्माण (2018-19) दिनांक- 13.07.2018 के द्वारा प्रकाशित की गई है, जिसमें निविदा की बिक्री दिनांक 30.07.2018 तथा डालने का दिनांक- 31.07.2018 रखा गया है उक्त निविदा में कुल 100 कार्यों का उल्लेख है।
3.    उक्त दोनों निविदा सूचनाओं में अधिकतर कार्य पूर्व में निर्मित सही स्थिति की सड़कों/कुओं का निर्माण एवं सौन्दर्यीकरण दिखाकर फर्जी भुगतान करने की मंशा जिसमें अध्यक्ष, अधिशाषी अधिकारी, प्रधान लिपिक तथा अवर अभियन्ता की संलिप्तता है।
4.    नगर पालिका में वित्तीय वर्ष-2017-18 में पंजीकृत ठेकेदारों का लाइसेन्स नवीनीकरण वित्तीय वर्ष- 2018-19 में न करके अपने कुछ चहेते ठेकदारों का ही नवीनीकरण करके टेण्डर निकाल दिया गया, जिससे अन्य पंजीकृत ठेकेदार निविदा से वंचित रह गये हैं और बेरोजगार एवं भुखमरी के कगार पर आ गए, जो कि सरकार की मंशा के विपरीत है।

मोदनवाल की शिकायत का संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी अम्बेडकरनगर ने मामले से सम्बन्धित जाँच नपाप अकबरपुर के अधिशाषी अधिकारी को सौंप दी, जिसका शिकायत कर्ता व अन्य भाजपा नेताओं ने विरोध किया है। इस विरोध के क्रम में गौरव श्रीवास्तव भाजपा नगर महामंत्री/सभासद अकबरपुर, अम्बेडकरनगर ने 27 जुलाई 2018 को मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश सरकार को एक शिकायती-पत्र प्रेषित कर नपाप अकबरपुर के इस कथित भ्रष्टाचार की जाँच अन्य उच्चाधिकारियों से कराने की मांग किया है। उन्होंने अपने शिकायती-पत्र में कहा है कि जिलाधिकारी अम्बेडकरनगर ने उक्त मामले की जाँच ई.ओ. नगर पालिका परिषद अकबरपुर को सौंपी है जबकि ई.ओ. नपाप अकबरपुर खुद उक्त मामले में संलिप्त हैं।

उक्त प्रकरण के बावत जब ई.ओ. नगर पालिका परिषद अकबरपुर सुरेश कुमार मौर्य से बात की गई तो उन्होंने अपने को अतिव्यस्त बताते हुए कहा कि मामले की जाँच जिलाधिकारी ने सौंपी है। इसके आगे बात करने से वह कतराते रहे और बाद में बात करने की बात कहकर फोन काट दिया। यह क्रम अब भी जारी है।

शिकायतकर्ता ज्ञान कुमार मोदनवाल और गौरव श्रीवास्तव को मुख्यमंत्री उत्तर प्र्रदेश, शासन समेत अन्य उच्चाधिकारियों को प्रेषित शिकायती पत्र जिसमें उन्होंने लिखा है कि करोड़ों रूपए के भ्रष्टाचार के इस मामले की जाँच उच्च स्तरीय तटस्थ एजेन्सी से कराई जाए के अपेक्षित उत्तर की प्रतीक्षा है।



Browse By Tags



Other News