सोनिया के गढ़ में मिला जुला रहा भारत बंद का असर
| Rainbow News - Sep 11 2018 12:34PM

रायबरेली। तेल की कीमतों में ऐतिहासिक बढ़ोतरी होने के विरोध में कांग्रेस पार्टी द्वारा बुलाये गए ' भारत बंद 'का कुछ असर रायबरेली में भी देखने को मिला। कांग्रेस व सपा पार्टियों के कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार के खिलाफ जुलूस निकाला और नारेबाजी की। हालांकि कुछ देर के प्रदर्शन के बाद बाजार खुल गये थे। न ही रेल यातायात बाधित हुआ और न ही बस सेवाओं को कोई नुकसान पहुंचा। विधानसभा चुनाव में एक साथ लड़ने वाली कांग्रेस और सपा के नेताओं ने अलग अलग रोष मार्च निकाला।

सुपर मार्केट से शुरू हुआ सपा का रोष मार्च मोदी सरकार मुर्दाबाद, तानाशाही नही चलेगी जैसे सरकार विरोधी नारेबाजी करते हुए जिला अस्पताल चौराहा से होते हुये डिग्री कॉलेज चौराहा पहुंचे। यहां इन्होंने बढ़ती हुई तेल की कीमतों घटाने, महंगाई कम करने आदि मांगो को लेकर सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन सौंपा। इस विरोध प्रदर्शन में समाजवादी पार्टी का कोई कद्दावर नेता नही दिखाई दिया। वहीं एक भी महिला कार्यकर्ता भी रोष प्रदर्शन में नजर नही आई।

कांग्रेस पार्टी की तरफ से भी पार्टी जिलाध्यक्ष वीके शुक्ला की अगुआई में कार्यकर्ताओं ने अम्बेडकर चौक होते हुये डिग्री कॉलेज चौराहा तक रोष मार्च निकाला। मोदी जब भी डरता है पुलिस को आगे करता है ', 56 इंच का सीना है, गरीब का लहू पीना है ' और ' मोदी तेरी तानाशाही, नही चलेगी, नही चलेगी। ' जैसे नारे लगाते हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने डिग्री कॉलेज चौराहा के एकजुट हुये। कांग्रेस पार्टी की जिला इकाई की भी तरफ से सिटी मजिस्ट्रेट को तेल की बेतहाशा बढ़ती कीमतों पर अंकुश लगाने को लेकर ज्ञापन सौंपा गया।

नही दिखी नवनियुक्त महिला जिलाध्यक्ष

भारत बंद को लेकर जहां कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और अध्यक्ष राहुल गांधी सहित देश भर के बड़े से लेकर छोटे नेताओं तक ने देश भर में किये गए रोष प्रदर्शन में अपनी अपनी भागीदारी दर्ज करवाई वहीं हाल ही में महिला जिलाध्यक्ष बनाई गईं शैलजा सिंह इस विरोध प्रदर्शन में गायब रहीं। महिला कांग्रेस की तरफ से उपाध्यक्ष प्रीता नेथन, महामंत्री उषा सिंह, बछरावां ब्लॉक अध्यक्ष कुरैशा रेनी, अनीसा, मुन्नी, कृषा त्रिपाठी, किरण मिश्रा आदि महिला कार्यकर्ताओं ने रोष प्रदर्शन में शामिल होकर महिला विंग की लाज बचाई।

मुस्तैद दिखा पुलिस प्रशासन

पुलिस उपाधीक्षक शशि शेखर सिंह, सीओ शेषमनी उपाध्याय और शहर कोतवाल अशोक परिहार की अगुवाई में भारी पुलिस बल किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिये मुस्तैद दिखा। शहर के संवेदनशील इलाके के साथ साथ प्रमुख चौराहे पर पुलिस बल तैनात था।



Browse By Tags



Other News