ग्राम समाज के तालाब पर जबरिया कब्जे का प्रयास
| Santosh Dev Giri - Sep 11 2018 4:28PM

-ग्राम प्रधान ने तहसील प्रशासन से लगाई गुहार, मामला मड़िहान तहसील के खोराडीह गांव का

-पुलिस की चौकसी में प्रांरभ हुआ तालाब के सौन्द्रीकरण का कार्य

मीरजापुर। सरकारी ग्राम पंचायतों, तालाबों तथा भीटे  की जमीन पर लोगों की कुदृष्टि लगी हुई है। जिन्हें न तो शासन-प्रशासन का भय है और न हीं ग्राम पंचायतों के कायदे-कानून का। ऐसा ही कुछ मामला जिले के राजगढ़ विकासखंड के ग्राम पंचायत कोराडी का होना बताया जा रहा है। जहां मनरेगा योजना अंतर्गत गांव के प्रसिद्ध असुरैन तालाब के पूर्वी छोर पर कराए जा रहे सुंदरीकरण कार्य तथा पौधरोपण में गांव के ही कुछ लोग बाधक बनने के साथ कब्जा करने की फिराक में हैं।

आरोप है कि उन लोगों द्वारा मना करने पर कार्य में बाधा उत्पन्न की जा रही है। जिसकी शिकायत ग्राम प्रधान खोराडीह ने उप जिलाधिकारी मड़िहान से करते हुए कारवाई की मांग की है, ताकि  सुंदरीकरण कार्य तथा तालाब के किनारे किनारे पौध रोपण का कार्य बिना किसी बाधा के साथ कराया जा सके। बताते चलें कि राजगढ़ विकासखंड के ग्राम पंचायत खोराडीह के असुरैन तालाब के पूर्वी भाग के भीटे पर मनरेगा योजनान्तर्गत वृक्षारोपण  एवं सुंदरीकरण का कार्य तेजी के साथ कराया जा रहा है। पौधों की सुरक्षा के लिए लोहे की जाली  फ्रेम बनाकर ईट के पिलर में फिक्स किया जा रहा है ताकि पौधों को पशुओं से बचाया जा सके।

ग्राम प्रधान रामेश्वर सिंह ने उप जिलाधिकारी को दिए गए शिकायती पत्र में आरोप लगाया है कि उक्त तालाब के किनारे किनारे करायें जा रहे वृक्षारोपण एवं सुन्दरीकरण कार्य में गांव के ही बच्चा यादव पुत्र घूरन यादव व महेश उर्फ रमेश यादव पुत्र स्व.भोला यादव सतीश कुमार उर्फ नन्दू मिश्रा द्वारा सरकारी कार्य में अवरोध पैदा करते हुए लगाए गए पौधों को उजाड़कर फेंक दिए जाने के साथ विभाग को भी गिरा दिया गया है। जिससे ग्राम पंचायत को काफी क्षति हुई है। इसी प्रकार सतीश कुमार उर्फ नन्दू मिश्रा पुत्र कैलाशनाथ मिश्रा खोराडीह द्वारा अवैधानिक तरीके से तालाब के भीटे पर दो जगह तिरपाल लगाकर कब्जा करने का प्रयास कर रहे हैं।

यही नहीं इनके द्वारा मौके पर कराए जा रहे सुंदरीकरण कार्य एवं पौधरोपण कार्य में अवरोध पैदा करने के साथ ही कार्य में लगे श्रमिकों को डराया-धमकाया भी जा रहा है ग्राम प्रधान रामेश्वर सिंह ने बताया है कि जानकारी होने पर उन्होंने जब उक्त लोगों से कार्य में बाधा उत्पन्न ना करने की बात कही और कहा कि यह गांव सभी का है। तालाब के सुंदरीकरण एवं पौधरोपण से गांव के ही लोगों को लाभ होगा और एक विकसित गांव की श्रेणी में गांव की गिनती की जाएगी। तो वह लोग उनसे भी उलझने को तैयार हो गए।

जिसकी सूचना ग्राम प्रधान ने  मड़िहान थाना पुलिस को देने के साथ उप जिलाधिकारी मड़िहान को भी संपूर्ण घटनाक्रम से अवगत कराते हुए कार्रवाई की मांग की है, ताकि गांव के विकास कार्य में अवरोध उत्पन्न करने वालों के खिलाफ दंडात्मक कार्यवाही सुनिश्चित की जा सके। दूसरी ओर ग्राम प्रधान की सूचना पर हरकत में आये तहसील प्रषासन ने पुलिस फोर्स मौके पर भेज कर कार्य को कराने का निर्देष दिया है। मौके पर पहुंची पुलिस ने कार्य प्रारंभ कराने के साथ चेताया है कि गांव के विकास में बाधक बनने वालों को बक्षा नहीं जायेगा।



Browse By Tags



Other News