अखिल भारतीय जायसवाल सर्ववर्गीय महासभा का दो दिवसीय सम्मेलन दिल्ली में हुआ सम्पन्न
| -Ramjee Jaiswal - Nov 9 2018 2:38PM

-समाज के संग्रहणीय स्मारिका का हुआ विमोचन, देश के कोने-कोने से जुटे स्वजातीय बंधु

-समाज के भामाशाहों, समाजसेवियों, अधिकारियों को इन्द्रप्रस्थ गौरव जायसवाल रत्न से किया गया सम्मानित

दिल्ली। अखिल भारतीय जायसवाल सर्ववर्गीय महासभा  के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष, राष्ट्रीय युवा प्रभारी एवं जायसवाल सर्ववर्गीय महासभा दिल्ली के अध्यक्ष एडवोकेट शैलेन्द्र जायसवाल के नेतृत्व में देश की राजधानी दिल्ली के मां आद्य कात्यायनी मंदिर छत्तरपुर के सभागार में विशाल राष्ट्रीय स्तर का जायसवाल सम्मेलन एवं सम्मान समारोह का आयोजन हुआ। समारोह का उद्घाटन महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदीप भाई जायसवाल पूर्व विधायक बड़ोदरा ने ध्वजारोहण एवं दीप प्रज्ज्वलित करके किया।

समारोह की मुख्य अतिथि बिहार सरकार की पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं स्वजातीय गौरव एवं वर्तमान में वरिष्ठ सांसद शिवहर बिहार श्रीमती रमा देवी जायसवाल एवं विशिष्ट अतिथि बिहार के विधानसभा महाराजगंज के विधायक हेम नारायण शाह (कलवार), पूर्व विधायक बिहार पवन जायसवाल, राष्ट्रीय युवा अध्यक्ष रहे जहां अखिल भारतीय जायसवाल सर्ववर्गीय महासभा के सभी वरिष्ठ पदाधिकारीगण वेद कुमार जायसवाल, अशोक जायसवाल इंदौर, अजय जायसवाल वरिष्ठ पत्रकार, अटल जायसवाल कोयम्बटूर, पारसनाथ साव, उमाशंकर जायसवाल, विपिन जायसवाल, राजाराम शिवहरे, श्रीमती माया सुवालका राजस्थान, निगम पार्षद विजय भगत पूर्व उप महापौर , सौरभ जायसवाल गाजियाबाद, रवि जायसवाल सहित सभी राज्यों के प्रतिनिधियों, स्वजातीय बन्धुओं की उपस्थिति रही।

इस दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला में अखिल भारतीय जायसवाल सर्ववर्गीय की महासभा के राष्ट्रीय पदाधिकारी की राष्ट्रीय स्तर की चिंतन बैठक करके यह विचार किया कि कलवार, कलाल, कलार व कलचुरी समाज किस प्रकार से संगठित होगा, किस प्रकार से उसका राजनीतिक, सामाजिक, शैक्षणिक, आर्थिक उत्थान के साथ सभी कलचुरी उप वर्गों में रोटी-बेटी का सम्बन्ध स्थापित हो सकेगा। देश की सामयिक व सामाजिक समस्याओं पर विचार-मंथन करके समाज की भूमिका तय की गयी।

इस दौरान जायसवाल समाज के राष्ट्रीय स्तर की बहुरंगी स्मारिका का विमोचन अतिथियों द्वारा किया गया। कार्यक्रम आयोजक शैलेन्द्र जायसवाल ने बताया कि उत्तर प्रदेश की कैबिनेट मंत्री श्रीमती अनुपमा जायसवाल व सांसद श्रीमती रमा देवी जायसवाल ने संयुक्त रूप से कहा कि आज मां कात्यायनी के दरबार में दीपावली के पावन अवसर पर आप लोगों की उपस्थिति देखकर मन प्रसन्न है।

दिल्ली जैसे व्यस्त शहर में भी हमारे हजारों स्वजातीय बन्धु यहां आये हैं। वक्ताद्वय ने समाज को संगठित होकर, सभी उपवर्गों को मिलकर कार्य करने के लिये कहा। साथ ही उन्होंने कहा कि शिक्षा में प्रगति पर, जनसख्या, धनबल के आधार पर राजनीतिक भागीदारी, समाज में सामाजिक चेतना जगाने कार्य करना चाहिये। समाज को आगे आकर देश विकास हित के सभी कार्य करने हेतु आगे आना चाहिये।

इसी क्रम में राज्यमंत्री श्रीमती अनुपमा जायसवाल ने समाज के भामाशाहों, वरिष्ठ समाजसेवियों, उच्च प्रतिष्ठित अधिकारियों को इन्द्रप्रस्थ गौरव जायसवाल रत्न सम्मान से सम्मानित किया। समारोह संयोजक शैलेन्द्र जायसवाल ने कहा कि ‘जो भरा नहीं है भावों से, जिसमें स्वजातीय का प्यार नहीं’। जाति, देश व धर्म का गौरव सभी में आना चाहिये। उन्होंने समाज के युवाओं से कहा कि हूनर से तकदीर को संवारने के कार्य करें। महिलाओं से कहा कि आप सभी ने बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ अभियान को साकार करना चाहिये। 

उनहोंने कहा कि उपवर्गों को एक होकर दिल्ली में जायसवाल कलवार भवन का कार्य पूर्ण करने में आगे आना ही होगा, अन्यथा दिल्ली में समाज का सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक विकास संभव नहीं है’। समाज हित के लिये बड़े लोगों से निचले समाज के लोगों को सहयोग करने के लिये निवेदन करते हुये कहा कि आप का एक फोन, एक हस्ताक्षर किसी की तकदीर बदल सकती है। अन्त में शैलेन्द्र जायसवाल ने समस्त आगंतुकों के प्रति आभार व्यक्त किया।



Browse By Tags



Other News