सौरभ कुमार ने 'जयचंद मेहता गोल्ड मेडल' हासिल कर बिहार का मान बढ़ाया 
| Rainbow News - Nov 26 2018 12:35PM

बीते शनिवार को ग्वालियर के आईटीएम यूनिवर्सिटी के तीसरे 'दीक्षांत समारोह' में रक्सौल (बिहार) निवासी सौरभ कुमार ने 'जयचंद मेहता गोल्ड मेडल' हासिल कर बिहार का मान बढ़ाया है। मध्यप्रदेश की महामहिम राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने बेस्ट इंटरप्रेनुअर के लिए 'डूरस्टेप्शोप्पी सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड' के संस्थापक के रूप में प्रभव दुबे, सौरभ कुमार एवं पिंकु जायसवाल को यह गोल्ड मेडल एवं प्रमाण पत्र प्रदान किया।

आईटीएम के नाद एंपिथियेटर में आयोजित इस भव्य कार्यक्रम में जम्मू कश्मीर के राज्यपाल श्री सत्यपाल मलिक, पद्मभूषण प्रो. डा. महाराज किशनभान, पद्मश्री रतन थियम, पद्मभूषण चंडी प्रसाद भट्ट, पद्मविभूषण प्रो.डा. एम.एस. स्वामीनाथन, पद्मश्री दीपा मल्लिक, प्रो.डा. फैजान मुस्तफा, सोशल एक्टिविस्ट बेज़वाड़ा विल्सन, पूर्व सेनाध्यक्ष जनरल दलवीर सिंह सुहाग एवं पत्रकार रविश कुमार समेत आईटीएम यूनिवर्सिटी के चांसलर रामाशंकर सिंह, एमडी दौलत सिंह चौहान, वाइस चांसलर डाॅ के के द्विवेदी, प्रो चांसलर रूचि सिंह एवं रजिस्ट्रार डाॅ ओमवीर सिंह उपस्थित थे।                            

अपने अपने क्षेत्र की इन जानी मानी हस्तियों ने छात्रों को जीवन में आगे बढ़ने के गुर भी सिखाये, सफलता के मंत्र भी दिए। इससे पूर्व गत फरवरी 2018 में आईटीएम यूनिवर्सिटी में आयोजित एक कार्यक्रम में सौरभ को महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की समुपस्थिति में 'एचीवर सम्मान' से सम्मानित किया गया था।  गौरतलब है कि सीबीएसई बोर्ड से 10वीं की परीक्षा में 9.8 सीजीपीए लाने वाला सौरभ 2014 में 12वीं की परीक्षा में 92.8% अंक हासिल कर चंपारण जिला टॉपर बना था।

फिर जेईई मेंस क्वालीफाई करके आईटीएम यूनिवर्सिटी, ग्वालियर के इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग में दाखिला लिया। अंतिम वर्ष में आते आते विश्व की अग्रणी आईटी कंपनी इंफोसिस में प्लेसमेंट भी मिला। इस गोल्ड मेडल को हासिल कर सौरभ ने कामयाबी का एक और रिकॉर्ड अपने नाम किया। पिता प्राध्यापक डा. स्वयंभू शलभ और माता सुनीता गुप्ता का यह एकलौता पुत्र अपनी प्रतिभा और लगन के बदौलत आज के युवाओं का आइकॉन बनता जा रहा है।



Browse By Tags



Other News