यातायात नियमों का पालन करें और सुरक्षित घर लौटें क्योंकि....: के.एन. सिंह
| Rainbow News - Nov 29 2018 2:26PM

‘सड़क सुरक्षा: कारण और निवारण’ विषय पर भाषण प्रतियोगिता आयोजित

प्रत्येक वर्ष नवम्बर महीने को यातायात माह के रूप में मनाया जाता है। इसमें सड़क सुरक्षा के दृष्टिगत पुलिस, परिवहन महकमा द्वारा जनजागरण हेतु स्कूल/कॉलेजों और सार्वजनिक महत्वपूर्ण स्थानों पर रैली व गोष्ठियों का आयोजन किया जाता है। इन अवसरों पर उपस्थित लोगों को सड़क सुरक्षा के दृष्टिगत यातायात नियमों के अक्षरशः पालन के नजरिए से व्याख्यान दिया जाता हैं। इसी क्रम में इस माह के अन्तिम दिनों में अम्बेडकरनगर के परिवहन विभाग द्वारा जिला पंचायत सभागार में एक भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें जिले के दो दर्जन से अधिक माध्यमिक विद्यालयों के 56 छात्र-छात्राओं ने प्रतिभाग किया और सड़क सुरक्षा के बारे में अपने विचार रखे। 28 नवम्बर 2018 को आयोजित इस भाषण प्रतियोगिता का शुभारम्भ ए.आर.टी.ओ. के.एन. सिंह व जिला विद्यालय निरीक्षक विनोद कुमार सिंह ने संयुक्त रूप से किया।

ए.आर.टी.ओ. के.एन. सिंह ने भाषण प्रतियोगिता के शुभारम्भ उपरान्त सड़क सुरक्षा पर अपने उद्बोधन में कहा कि नशे की हालत में वाहन चलाना दुर्घटनाओं को दावत देना है। लगातार बढ़ रहे सड़क हादसों से सबक लेने की आवश्यकता है। सिर्फ किताबी ज्ञान लेना ही काफी नहीं है, बल्कि लोगों को जागरूक होने की जरूरत है। ए.आर.टी.ओ. ने कहा कि अक्सर लोग यातायात के नियमों की जानकारी होने के बावजूद भी उस पर अमल नहीं करते हैं। मार्ग दुर्घटना समाज में एक बड़ी समस्या का रूप ले चुका है और इसके लिए जिम्मेदार प्रत्येक व्यक्ति स्वयं है। सड़क दुर्घटनाओं पर नियंत्रण पाने के लिए हम सभी को गम्भीरता से विचार करने की आवश्यकता है। 

उन्होंने कहा कि वाहन चलाते समय मोबाइल का प्रयोग जानलेवा साबित हो सकता है इसकी जानकारी तो सभी को होती है बावजूद इसके लोग वाहन चलाते समय अक्सर मोबाइल पर बात करते हैं। इससे बचना चाहिए। के.एन. सिंह. ने यह भी कहा कि नियमों का पालन सिर्फ कार्रवाइ से बचने के लिए ही नहीं बल्कि स्वयं व अपने परिवार की सुरक्षा के लिए करें। सड़क हादसे में एक व्यक्ति की मौत से पूरा का पूरा परिवार मुसीबत में आ जाता है ऐसे में अपने साथ-साथ अपने परिवार का भी ध्यान रखें। यातायात नियमों का पालन करें, सुरक्षित घर पहुँचें क्योंकि घर पर उनका परिवार उनके सकुशल वापस लौटने की राह देख रहा होता है। अपनी जिम्मेदारियों को गम्भीरता से लें, बिना हेलमेट मोटर बाइक व बगैर सीट बेल्ट के चार पहिया वाहन न चलाएँ। 

उक्त भाषण प्रतियोगिता में प्रतिभाग कर रहे छात्र-छात्राओं को सम्बोधित करते हुए ए.आर.टी.ओ. के.एन. सिंह ने कहा कि वह स्वयं यातायात नियमों का पालन करें और अपने परिजनों व अन्य लोगों को भी इसके लिए जागरूक करें। प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वाले छात्र-छात्राओं ने ‘‘सड़क दुर्घटना: कारण और निवारण’’ विषय पर बोलते हुए भाषण के माध्यम से यातायात नियमों पर अपने-अपने विचार रखे। प्रतिभागियों ने नशे की स्थिति में वाहन न चलाने व वाहन चलाते समय मोबाइल का प्रयोग न करने का भी आह्वान किया। 

इस मौके पर जिला विद्यालय निरीक्षक विनोद कुमार सिंह ने उपस्थित लोगों व छात्र-छात्राओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि अक्सर हम जल्दबाजी व लापरवाही में यातायात के नियमों का पालन नहीं करते हैं परिणाम स्वरूप आए दिन सड़क हादसे होते रहते हैं। यदि हम सड़क सुरक्षा से जुडे़ नियमों का गम्भीरता से पालन करने लगें तो निश्चित रूप से सड़क हादसों में कमी आएगी। जिला युवा कल्याण अधिकारी जे.पी. सिंह ने कहा कि सड़क दुर्घटना भाषणबाजी मात्र से नहीं रूक सकती, इसके कारण को जानकर उसका निवारण करना आवश्यक है। इस मौके पर जिला क्रीड़ा अधिकारी नीरज मिश्र, अकबरपुर रोडवेज डिपो के ए.आर.एम. कमाल खाँ, इन्द्रजीत यादव (डी.आई.ओ.एस. ऑफिस) आदि उपस्थित रहे। 



Browse By Tags



Other News