शहद से भी ज्यादा मीठा है मौत का मज़ा : मौलाना ज़ैनबी
| -Ali Askari Naqvi - Dec 23 2018 3:30PM

अंबेडकरनगर। अगर तुम सत्य पर हो तो मौत की तमन्ना करो। अल्लाह का यह कथन पवित्र कुरान में दर्ज है। रसूल-ए-अकरम के घराने वालों ने पहले ही बता दिया है कि मौत शहद से भी ज्यादा मीठी है। यही कारण है कि कर्बला के महान बलिदानियों ने हक की  राह में मौत की परवाह नहीं किया।

समाजसेवी मरहूम डॉ. मोहम्मद हसन के फातिहे की मजलिस को संबोधित करते हुए गुरूवार को यह बात दिल्ली के आलिम-ए-दीन मौलाना नजर मोहम्मद जैनबी ने कही। डाँ. आमिर अब्बास व समी अब्बास द्वारा आयोजित कार्यक्रम में बड़ी संख्या में जुटे अजादारों को खेताब करते हुए मौलाना जैनबी ने कहा कि यही कारण है कि रसूल-ए-अकरम के परिजनों ने मौत की परवाह नहीं किया।

यहां तक की इमाम हुसैन ने अपने वफादार साथियों को जन्नत की जमानत के साथ चले जाने का मशविरा दिया था। मगर कोई टस से  मस नहीं हुआ। किसी को भी मौत का खौफ नहीं था। बल्कि इमाम का हर साथी मौत पर टूट पड़ने के लिए बेताब था। हर एक ने इमाम हुसैन के इस फर्मान पर अमल किया कि जिल्लत की जिंदगी से इज्जत की मौत बेहतर है।

लिहाजा इमाम हुसैन के अनुयायियों को हमेशा सत्यमार्ग पर रहना चाहिए चाहे मौत को ही क्यों ना गले लगाना पड़े। पेशइमाम मौलाना शुजा हैदर जैदी, मौलाना सना अब्बास जैदी, मौलाना रिजवान हैदर रिजवी, मौलाना कामरान रिजवी, मौलाना शाहिद हुसैन रिजवी, मौलाना मोहम्मद अब्बास रिजवी, मौलाना मोहम्मद रजा रिजवी सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे। 



Browse By Tags



Other News