बीजेपी के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ेंगे गौतम गम्भीर 
| Rainbow News - Mar 8 2019 5:21PM

टीम इंडिया के पूर्व खब्बू बल्लेबाज गौतम गंभीर राजनीति की पिच में आगामी लोकसभा चुनाव में उतर सकते हैं। गंभीर दिल्ली से बीजेपी की तरफ से आगामी चुनाव में बैटिंग कर सकते हैं। भाजपा उनके नाम पर गंभीरता के साथ विचार कर रही है। बीजेपी ने साल 2014 के चुनाव में दिल्ली में सभी सात सीटें जीतते हुए क्लीन स्वीप किया था। सूत्रों के अनूसार सत्ता विरोधी लहर की काट के रुप में भाजपा गंभीर पर दांव लगा सकती है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक बीजेपी के एक नेता ने नाम ना बताने की शर्त पर कहा कि पार्टी नेतृत्व लगातार गंभीर के संपर्क में है, जिन्हें नई दिल्ली लोकसभा सीट से टिकट मिल सकता है। वर्तमान में इस सीट से मौजूदा सांसद भाजपा की मीनाक्षी लेखी हैं। मीनाक्षी लेखी सुप्रीम कोर्ट में वकील भी हैं। पार्टी के उच्च नेतृत्व की उनसे बात हो चुकी है। इस बारे में फैसला जल्द लिया जाएगा। गौतम गंभीर आम आदमी पार्टी की नीतियों की सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विवटर पर अक्सर आलोचना करते रहते हैं। इससे अनुमान लगाया जा रहा है कि वह राजनीति में कदम रख सकते हैं।

उन्हें किस सीट से टिकट दिया जाए,ये फैसला करना आसान नहीं होगा क्योंकि अन्य बातों के साथ मीनाक्षी लेखी का लोकसभा में प्रदर्शन भी एक अहम मुद्दा है। कुछ पूर्व पार्षदों ने भी पार्टी नेतृत्व को सलाह दी है कि सत्ता विरोधी लहर से निपटने के लिए कुछ मौजूदा सांसदों की जगह नए लोगों को टिकट देना चाहिए। उन्होंने कहा कि साल 2017 के निकाय चुनाव में पार्टी ने यह रणनीति अपनाई थी और ये काम आई थी। सूत्रों के अनुसार आगामी चुनाव में चांदनी चौक सीट से मौजूदा सांसद हर्ष वर्धन को पूर्वी दिल्ली से टिकट दिया जा सकता है। उनकी जगह इस सीट से केंद्रीय मंत्री विजय गोयल या रोहिणी से विधायक विजेंदर गुप्ता चुनाव लड़ सकते हैं।

वहीं पूर्वी दिल्ली से मौजूदा सांसद महेश गिरि को दिल्ली के बाहर किसी लोकसभा सीट से टिकट दिया जा सकता है। गौरतलब है कि चांदनी चौक सीट से लोकसभा चुनाव जीतने से पहले हर्ष वर्धन पांच बार पूर्वी दिल्ली की कृष्णा नगर सीट से विधानसभा चुनाव जीत चुके हैं। विजय गोयल तीन बार चांदनी चौक सीट से सांसद रह चुके हैं और विजेंदर गुप्ता ने 2009 में इस सीट से चुनाव लड़ा था और उन्हें असफलता मिली थी।

हर सीट पर तीन से चार संभावित नाम

सूत्रों के मुताबिक पार्टी नेतृत्व ने दिल्ली की सभी सात लोकसभा सीटों पर 3-4 संभावित उम्मीदवारों का नाम रखा है। ये नाम पार्टी कार्यकर्ताओं की प्रतिक्रिया और मौजूदा सांसदों के जमीन पर काम के आधार पर तय किए गए हैं। दिल्ली बीजेपी को उम्मीदवारी के लिए 25 आवेदन मिले हैं। इनमें पूर्व सांसद, पूर्व विधायक, पार्षद, संगठने में बड़े नेता और पूर्व छात्र नेता शामिल हैं। कई लोगों ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से टिकट के बारे में अपना दावा रखने के लिए मुलाकात भी की है।

हालांकि संसदीय बोर्ड ही अंतिम फैसला लेगा। दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि पार्टी लोगों की चुनाव लड़ने की इच्छा का स्वागत करती है। अगर किसी को लगता है कि वह योग्य उम्मीदवार हो सकता है तो उसे अपना नाम देना चाहिए। टिकट मांगने मे कोई नुकसान नहीं है। ये मौजूदा सांसद के टिकट में फेरबदल में योग्य उम्मीदवार को चुनने में सहायता करेगा।



Browse By Tags



Other News