हार्दिक पटेल कांग्रेस में हुए शामिल, राहुल गांधी की मौजूदगी में ली पार्टी की सदस्यता
| Rainbow News - Mar 12 2019 5:20PM

तमाम कयासों के बीच गुजरात के पाटीदार नेता और पाटीदार आरक्षण आंदोलन के अगुवा हार्दिक पटेल आज कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। हार्दिक पटेल कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मौजूदगी में कांग्रेस का हाथ थामा। बताया जा रहा है कि गांधीनगर में कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक के बाद आयोजित रैली हार्दिक पटेल कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। बीते काफी दिनों से इसकी अटकलें थी, लेकिन अब जाकर हार्दिक पटेल  कांग्रेस में शामिल हो गए।

हार्दिक पटेल कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मौजूदगी में कांग्रेस में शामिल हुए। हार्दिक जामनगर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ सकते हैं। गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले राज्य में हुए पाटीदार आंदोलन के बाद से ही हार्दिक राष्ट्रीय राजनीति में चर्चा का विषय बने हैं। आपको बता दें उन्हें 2015 के पाटीदार कोटा आंदोलन के दौरान हुई हिंसा के मामले में दोषी ठहराया गया था। इसके बाद उन्हें दो साल की जेल भी हुई थी।

कांग्रेस में शामिल होने के फैसले पर हार्दिक ने कहा कि वो सवा सौ करोड़ भारतवासियों के लिए ये कदम उठा रहे हैं। पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने ट्वीट कर कहा है कि, 'देश और समाज की सेवा के मकसद से अपने इरादों को मूर्तरूप देने के लिए मैंने 12 मार्च को श्री राहुल गांधी और अन्य वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में इंडियन नैशनल कांग्रेस जॉइन करने का निर्णय लिया है।' साथ ही हार्दिक पटेल ने अपने ट्वीट में लिखा है कि, 'मैं यह बताना चाहूंगा कि अगर कोई कानूनी अड़चन नहीं है और पार्टी मुझे चुनावी राजनीति के मैदान में उतारती है तो मैं अपने दल के फैसले का पालन करूंगा।

मैं भारत के सवा सौ करोड़ भारतवासियों के लिए यह कदम उठा रहा हूं।' आपको बता दें कि हार्दिक पटेल पाटीदार अनामत आंदोलन समिति यानी पास के संयोजक हैं। पाटीदार अनामत आंदोलन समिति ने हार्दिक को कांग्रेस में शामिल होने की अनुमति दे दी है। गौरतलब है कि राजद्रोह के आरोपों से घिरे और जमानत पर चल रहे हार्दिक पटेल ने गुजरात से लोकसभा चुनाव लड़ने का ऐलान किया था।

जानकारी के मुताबिक हार्दिक पटेल जामनगर से चुनाव लड़ सकते हैं। फिलहाल जामनगर से बीजेपी की नेता पूनमबेन मादम सांसद हैं। गौरतलब है कि पिछड़ा वर्ग आरक्षण के मुद्दे पर हार्दिक पटेल ने गुजरात की बीजेपी सरकार का विरोध किया था। 2015 के स्थानीय निकाय चुनाव और 2017 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का समर्थन करते नजर आए थे।



Browse By Tags



Other News