प्रकाश अंबेडकर ने कहा- हमारी सरकार आई तो हम चुनाव आयुक्त को ही जेल में डाल देंगे
| Rainbow News - Apr 5 2019 1:48PM

मुंबई। बीआर अंबेडकर के पोते और भारिपा बहुजन महासंघ के अध्यक्ष प्रकाश अंबेडकर ने गुरुवार को संवैधानिक संस्था भारतीय चुनाव आयोग (ईसीआई) के खिलाफ कार्रवाई करने की धमकी दे डाली। उन्होंने कहा कि, अगर उनकी पार्टी सत्ता में आई तो वे चुनाव आयोग को जेल में डाल देंगे। प्रकाश अंबेडकर का यह बयान ऐसे समय आया है जब लोकसभा चुनाव के लिए आचार संहिता लागू हो चुकी है। प्रकाश ने चुनाव आयोग पर पक्षपाती होने का भी आरोप लगाया।

महाराष्ट्र के यवतमाल में आयोजित एक रैली के दौरान आंबेडकर ने, ' चुनाव आयोग राजनीतिक दलों को पुलवामा हमले के बारे में ना बोलने के लिए कह रहा है। मैं जानना चाहता हूं कि पुलवामा आतंकी हमले के बारे में हमें बात करने की अनुमति क्यों नहीं दी जा रही है। जबकि संविधान के तहत हमें इसकी अनुमति दी गई है। हमारी सरकार को सत्ता में आने दो, हम चुनाव आयोग को नहीं बख्शेंगे। हम उन्हें दो दिन जेल में रखेंगे। आयोग अब और तटस्थ नहीं रहा है। यह भाजपा के सहयोगी के रूप में काम कर रहा है।

अब चुनाव आयोग ने प्रकाश आंबेडकर के इस बयान पर मांगी रिपोर्ट

अब चुनाव आयोग ने प्रकाश आंबेडकर के इस बयान पर महाराष्ट्र में अपने प्रतिनिधि कार्यालय से रिपोर्ट मांगी है। आयोग ने स्थानीय जिला निर्वाचन अधिकारी को इस संबंध में जल्‍द रिपोर्ट भेजने को कहा है। प्रकाश आंबेडकर ने असदुद्दीन ओवैसी के साथ मिलकर महाराष्ट्र की सभी लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला किया है। प्रकाश आंबेडकर वंचित बहुजन अघाड़ी (वीबीए) के प्रमुख हैं और उनके इस दांव से दलित-मुस्लिम वोटों के बंटवारे के कयास लगाए जा रहे हैं।

महाराष्ट्र में एनसीपी औऱ कांग्रेस की बढ़ी मुश्किलें

उनके इस बयान से राज्य में कांग्रेस और राकांपा के भाजपा के खिलाफ 'महागठबंधन' बनाने की कोशिशों को झटका लगा था। आंबेडकर ने कहा कि भाजपा विरोधी गठबंधन में शामिल होने के लिए कांग्रेस के साथ कोई बातचीत नहीं की जायेगी। 17 वीं लोकसभा के लिए चुनाव 11 अप्रैल से 19 मई तक सात चरणों में होगा। मतों की गिनती 23 मई को होगी।



Browse By Tags



Other News