माहे रमजान के पहले जुमे में मस्जिदो में उमड़ी भीड़
| Rainbow News - May 10 2019 4:23PM

शिया जामा मस्जिद में गिरिराज सिंह के विवादित बयान पर नमाजियो ने विरोध प्रकट किया

जौनपुर। माहे रमजान के पहले जुमे में जनपद की सभी मस्जिदों में जन-सैलाब उमड़ पड़ा मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रों में जुमे कि नमाज़ के कारण चहल-पहल बढ़ गयी। दोपहार में जुमे की नमाज के लिये मस्जिदो की तरफ नमाज़ी चल पड़े। जैसे की बड़ी मस्जिद, अटाला मस्जिद, शाही किले की मस्जिद, शिया जामा मस्जिद नवाब बाग, शेर की मस्जिद, व शहर की अन्य मस्जिदों में जुमे की नमाज़ अदा की गयी। शिया जामा मस्जिद के मुत्तवली/प्रबंधक शेख अली मंजर डेज़ी ने देश की खुशहाली, तरक्की एवं अमन के लिये नमाजियोंके साथ दुआ मांगी।

इसी क्रम में शिया जामा मस्जिद नवाब बाग कसेरी बाजार में इमाम-ए-जुमा शहर जौनपुर मौलाना महफुजुल हसन खां ने जुमे की नमाज़ अदा करायी। नमाजे जुमा के खुत्बे में मौलाना महफुजुल हसन खां ने कहा कि रोजे मे मुसलमान अपने इन्द्रियो पर काबू पाता है। घैर्य, संयम, अनुशासन का प्रतीक रोज़ा होता है। रमजान में मुसलमान इबादतो से अपने गुनाहों से निजात पाता हैं। उन्हानें अपने उदबोधन में साम्प्रादयिकता की आलोचना करते हुये केन्द्रिय मंत्री गिरिराज सिंह द्वारा पैगम्बरे इस्लाम हजरत मोहम्मद (स.अ.व) तथा उनकी बेटी हजरत फात्मा ज़हरा (स.अ) पर की गयी कथित टिप्पणी की कड़ी निंदा की।

उन्होने कहा इस टिप्पणी के कारण मुसलिम समाज विशेषकर शिया मुसलिमो में रोष व्याप्त है। ऐसे फिरकापरस्तो पर रोक लगनी चाहिये जो देश की गंगा-जमुनी संस्कृति को समाप्त करना चाहते है। आज जुमे की अवसर पर पूरे देश में इस टिप्पणी पर प्रर्दशर्नो के माध्यम से विरोध प्रकट किया जा रहा है। हम जौनपुर के शिया इस टिप्पण्ी की कड़ी निंदा करते है। शिया जामा मस्जिद के प्रबंधन समिति के सदस्य गण एवं सैकडो की संख्या में मोमनीन उपस्थित थे।



Browse By Tags



Other News