चारधाम यात्रा और करवट बदलता मौसम
| - Om Prakash Uniyal - May 14 2019 12:13PM

इन दिनों चारधाम यात्रा चल रही है। श्रद्धालु आत्मिक शांति पाने के लिए हिमालय के ऑंचल में बसे इन धामों का दर्शन करने देश के कोने-कोने से आते हैं। विदेशी यात्री भी इन धामों के दर्शन कर अभिभूत होते हैं। उत्तराखंड देवभूमि देवी-देवताओं की पवित्र भूमि है।

हिमालय की गोद से निकलने वाली  पवित्र-पावनी निश्चछल बहती गंगा व यमुना की अविरलता मन को हर लेती है वहीं भगवान बद्री विशाल और केदार नाथ के दर्शन कर मन में अगाढ़ आस्था व श्रद्धा का जो संगम होता है उसकी आनन्दानुभूति अवर्णनीय होती है।

यही कारण है कि प्रतिवर्ष भक्तजन इन धामों के दर्शनों के लिए आतुर रहते हैं। प्रकृति साथ दे न दे तब भी तीर्थयात्री हर हाल में पहुंचते हैं। चार धामों की महत्ता इतनी है कि श्रद्धालुओं के कदम विषम से विषम परिस्थितियों में भी नहीं डगमगाते।

ऊंचाई में स्थित होने के कारण यहां मौसम कब अपना मिजाज बदल दे अनुमान लगाना मुश्किल होता है। इस बार भी यात्रा के शुरुआती दौर में मौसम ने अपना रंग बदलना शुरु कर दिया है। शासन-प्रशासन ने यात्रा को सफल बनाने व यात्रियों को होने वाली कठिनाईयों से बचाने के लिए पूरी व्यवस्था की है।

फिर भी मौसम की मार से बचने के लिए यात्रियों को सजग व सचेत रहने की आवश्यकता होती है। सबकी यात्रा सफल हो, मंगलमय हो इस भाव की दृढ़ता अपने मन बनाए रखें। नि:संकोच होकर व प्रमु का स्मरण कर यात्रा का आनंद उठाएं लेकिन पग-पग पर सावधानी अवश्य बरतें।



Browse By Tags



Other News