बामुलाहिजा होशियार! ए.आर.टी.ओ. के.एन. सिंह एण्ड टीम इज ऐक्टिव.....
| Rainbow News - May 29 2019 2:34PM

स्कूली वाहनों की फिटनेस जाँच करते ए.आर.टी.ओ. के.एन. सिंह

शिविर लगाकर की जा रही है विद्यालयी वाहनों की फिटनेस जाँच 

जेठ का महीना........भीषण गर्मी.........त्वचा झुलसाने वाली तपिश......जन-जीवन हलकान.......पशु-पक्षी बेहाल......चिलचिलाती धूप........गर्म लू के थपेड़ों से राहत मिलना दूर उस पर पारा 44 डिग्री। चलती गर्म हवाएँ.....आसमान से बरसती आग.....हर कोई खुद को बचाने के लिए करता छांव की तलाश.......गाँव-देहात, बाजार, शहर के मार्गों पर व्याप्त सन्नाटा। यह स्थिति मई माह के अन्तिम पखवारे की है। बच्चों के विद्यालय ग्रीष्मावकाश के लिए बन्द हैं। आने वाले महीनों में जब दूसरे सत्र की पढ़ाई शुरू होगी उस समय के लिए विद्यालय प्रबन्धन, शिक्षा विभाग और परिवहन महकमा अभी से तैयारियों में जुट गया है।

अम्बेडकरनगर। शिक्षा विभाग व विद्यालयी प्रबन्धन जहाँ नौनिहालों के शैक्षिक स्तर व वातावरण को बढ़ाने के लिए तत्पर देखे जा रहे हैं, वहीं जिले का परिवहन महकमा इस बात को लेकर गम्भीर है कि बच्चों को ढोने वाले वाहन फिट-फाट दशा में हो, किसी भी तरह की कोई खामी न हो, जिसकी वजह दुर्घटनाएँ जन्म लेती हैं। इसके लिए जिले में स्थापित सहायक संभागीय परिवहन महकमे के मुखिया ए.आर.टी.ओ. व फिटनेस जाँच टीम में अग्निशमन अधिकारी, सी.ओ. होमगार्ड्स, कनिष्ठ सहायक परिवहन विभाग नवदीप कुमार सिंह आदि जिम्मेदार ओहदेदार सक्रिय होकर पूरे जिले में स्कूली वाहनों की फिटनेस जाँच के लिए शिविर लगा रहे हैं। ए.आर.टी.ओ. फिटनेस चेकिंग के नाम पर खानापूर्ति न करके वाहनों के अन्दर बाहर एवं इन्जन व अन्य पुर्जों तथा वांछित उपकरणों की स्वयं विधिवत जाँच करते हैं। 

स्कूली वाहनों की फिटनेस को लेकर महकमे के मुखिया ए.आर.टी.ओ. कैलाश नाथ सिंह काफी गम्भीर हैं। इन्होंने पूर्व से ही अनेकों बार स्कूल प्रबन्धन को निर्देशित किया है कि वे लोग यथाशीघ्र अपने वाहनों का फिटनेस करा लें,  बावजूद इसके विद्यालय प्रबन्धन वाहनों की फिटनेस को लेकर गम्भीर नहीं हुआ तब ऐसे में महकमें ने विद्यालयों में जा-जाकर शिविर का आयोजन कर वाहनों की फिटनेस जाँच शुरू किया। जिन विद्यालयों में वाहनों की दशा ठीक-ठाक नहीं पाई गई उन्हें तत्काल दुरूस्त कराने का निर्देश दिया, साथ ही यह भी चेतावनी दिया कि जुर्माना व विधिक कार्रवाई से बचने के लिए विभागीय निर्देशों का पालन करना आवश्यक है। 

इस बावत बात करते हुए ए.आर.टी.ओ. के.एन. सिंह ने बताया कि जो विद्यालय प्रबन्धन परिवहन महकमें द्वारा जारी निर्देश की अनदेखी कर रहा है और स्कूल वाहन फिटनेस की तरफ से लापरवाह है वह विधिक कार्रवाई की चपेट में आएगा। वाहन फिटनेस जाँच अभियान सम्पन्न होने के उपरान्त परिवहन महकमें की टीम सड़कों पर चेकिंग अभियान चलाएगी, इस दौरान जो भी वाहन विभागीय नियमों व मानक के विपरीत तथा अनफिट संचालित होते पाए जाएँगे उनपर भारी शमन/जुर्माना लगाने के साथ ही विधिक कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी।

सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी कैलाश नाथ सिंह के अनुसार मंगलवार 28 मई 2019 को परिवहन महकमें की टीम ने जलालपुर कस्बे के रेडियन्ट इण्टर कॉलेज में स्कूली वाहनों की फिटनेस जाँच के लिए शिविर लगाया, साथ ही कई अन्य विद्यालयों में पहुँचकर टीम ने वाहनों के फिटनेस की जाँच की। जिन वाहनों की दशा सही नहीं पाई गई उन्हें तत्काल दुरूस्त कराने का निर्देश विद्यालय प्रबन्धन को दिया गया। रेडियन्ट इण्टर कॉलेज में लगाये गए शिविर में लगभग 30 वाहनों के फिटनेस की जाँच की गई तदुपरान्त जाँच टीम जिला मुख्यालय शहर अकबरपुर स्थित डी.ए.वी. पब्लिक स्कूल पहुँची। यहाँ पर 20 से अधिक वाहनों की जाँच की गई। ए.आर.टी.ओ. सिंह ने बताया कि शिविर लगाकर वाहनों की फिटनेस चेकिंग का यह कार्य आगे भी जारी रहेगा, इसके उपरान्त सड़कों पर विभागीय टीम चेकिंग अभियान चलाएगी।

ए.आर.टी.ओ. के.एन. सिंह ने विद्यालयी प्रबन्धन से अपील किया है कि वह लोग समय रहते अपने वाहनों का फिटनेस टेस्ट करा लें अन्यथा की स्थिति में चेकिंग के दौरान वाहन अनफिट पाए जाने पर उनपर जुर्माना व विधिक कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। सिंह ने कहा कि अनफिट वाहनों में बच्चों को बिठाकर ढोते समय किसी भी तरह के हादसे की प्रतीक्षा नहीं की जानी चाहिए। इसके लिए सतर्क और सजग होकर परिवहन नियमों का पालन किया जाना आवश्यक है। 



Browse By Tags



Other News