44 किलो अवैध गांजा के साथ 2 गिरफ्तार
| Rainbow News - May 29 2019 6:34PM

ए.एस.पी. ओम प्रकाश सिंह ने प्रेसवार्ता में दी जानकारी

उत्तर प्रदेश सूबे की योगी सरकार में पुलिस काफी हद तक सक्रिय कही जा सकती है। आए दिन महकमा अपराधियों, जरायम पेशे से सम्बद्ध लोगों एवं एन्टी सोशल एलिमेन्ट्स पर कड़ी निगरानी रख रहा है, साथ ही जरायम पर मजबूती से शिकंजा कसने व नियंत्रण पाने के लिए पुलिसजन काफी ऐक्टिव हो गए हैं। प्रदेश, मण्डल, जनपद व थाना चौकियों में तैनात पुलिसजन वर्दी का खौफ आपराधिक तत्वों पर डालने में सफल भी हो रहे हैं। इसके साथ ही शान्तिप्रिय एवं आम जन से इनका मित्रवत भाव अवश्य ही मित्र पुलिस के शब्द एवं भावार्थ की प्रासंगिकता को सार्वजनिक कर रहा है। तात्पर्य यह कि आम जन जिनका अपराध से कोई ताल्लुक नहीं है उनके लिए महकमा-ए-पुलिस के वर्दीधारी दोस्त और जरायम पेशा से जुड़े लोगों के लिए दुश्मन......। अंग्रेजी में कहावत है कि टिट फार टैट......यानि- जैसे को तैसा..........अपराधियों के लिए सख्त........और शान्तिप्रिय लोगों के नरम। यह सब चरितार्थ करते हुए पुलिस डिमार्टमेन्ट अपना दायित्व बखूबी निर्वहन कर रहा है। यह तब और भी अच्छे तरीके से होना सम्भव होता है जब महकमे व टीम का नेतृत्व सुलझे, अनुभवी अधिकारी द्वारा किया जा रहा हो।

आज हम बात करेंगे उत्तर प्रदेश सूबे के पूर्वांचल स्थित जनपद सोनभद्र की। इस जिले के पुलिस की कमान युवा आई.पी.एस. सलमानताज जाफरताज पाटिल के हाथों में है, जिनका सहयोग अनुभवी पुलिस आफीसर ओम प्रकाश सिंह अपर पुलिस अधीक्षक (मुख्यालय) द्वारा बखूबी किया जा रहा है। सुलझे एवं सीनियर पुलिस आफीसर द्वारा बनाई गई रणनीति कितनी कारगर साबित होती है इसे सोनभद्र की पुलिस की कार्यशैली देखकर सहज ही अन्दाजा लगाया जा सकता है।

अपराध छोटा हो या बड़ा दोनों होते तो अपराध ही हैं। चोरी, मारपीट एवं अन्य छोटी घटनाओं को अनदेखा किया जाए तब यही आगे चलकर बड़ा अपराध बनता है और भयंकर रूप लेता है। ठीक उसी तरह जैसे- शराब की तस्करी बड़ा आर्थिक अपराध में यदि गिना जाए तब गांजा जैसे मादक पदार्थों की तस्करी अत्यन्त लघु अपराध की श्रेणी में कहा जाएगा। परन्तु मादक पदार्थ मादक ही होता है इसकी मादकता मानव और समाज को ठीक उसी तरह से प्रभावित करती है जैसे शराब/मदिरा/वाइन। इन सब पर सोनभद्र पुलिस ने पैनी नजर रखी हुई है और पठारीय भूगोल का ज्ञान रखते हुए यहाँ के पुलिसजन जरायम पेशे से जुड़े एवं मादक पदार्थो की तस्करी करने वाले लोगों पर शिकंजा कसने के लिए उनके अड्डों पर दबिश पर दबिश देकर कामयाबी हासिल कर रहे हैं।

इसी क्रम में आज बुधवार 29 मई 2019 को जिले के थाना चोपन और पुलिस चौकी डाला की पुलिस द्वारा गांजा जैसे मादक पदार्थ की तस्करी व बिक्री करने वाले 2 लोगों को गिरफ्त में लेकर उनके पास से 44 किलो गांजा बरामद किया गया है। इस आशय की जानकारी एक प्रेस वार्ता में अपर पुलिस अधीक्षक मुख्यालय ओम प्रकाश सिंह ने पत्रकारों को देते हुए बताया कि एस.पी. सलामनताज जाफरताज पाटिल के निर्देशन में अवैध मादक पदार्थों की तस्करी व वांछित अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए अभियान चलाया जा रहा है। 

ए.एस.पी. के अनुसार थाना चोपन के प्रभारी निरीक्षक प्रवीण कुमार सिंह एवं डाला चौकी प्रभारी उप निरीक्षक चन्द्रभान सिंह को मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि कुछ लोग अल्ट्राटेक सीमेन्ट फैक्ट्री के पार्किंग स्थल डाला चढ़ाई पर गांजा के साथ खड़े हैं और कहीं जाने की फिराक में हैं। इस सूचना पर थाना चोपन और डाला चौकी के पुलिसजन मुखबिर के बताए स्थान पर पहुँचे और दबिश देकर अनिल कुमार मौर्य पुत्र राम सागर मौर्य निवासी ग्राम-खलियारी थाना- रायपुर, जनपद सोनभद्र व मुख्तार अली पुत्र सहाबुद्दीन निवासी ग्राम- खलियारी थाना रायपुर, जनपद-सोनभद्र के पास से चार प्लास्टिक की बोरियों में ठूसकर भरा हुआ 44 किलो गांजा बरामद किया। 

ए.एस.पी. मुख्यालय सिंह ने बताया कि पुलिस पूछ-तांछ के दौरान पकड़े गए अनिल व मुख्तार ने अन्य लोगों के भी गांजा तस्करी में शामिल होने की बात स्वीकारी है। पुलिस ने दोनों अभियुक्तों के खिलाफ थाना चोपन में मु.अ.सं. 112/19 धारा 8/20 एन.डी.पी.एस. एक्ट में पंजीकृत कर चालान कर दिया है। इस पुलिस टीम में हेड कांस्टेबल तौकीर खाँ, कांस्टेबल विवेक सिंह (थाना चोपन), कांस्टेबल विजेन्द्र खरवार (चौकी डाला, थाना चोपन) शामिल रहे।



Browse By Tags



Other News