जल ही जीवन है....
| -Priyanka Maheshwari - Jun 5 2019 11:47AM

जल ही जीवन है....
लेकिन.... 
इस जीवन को....
कैसे बचाएं हम...
जब... 
हम ही हैं दुश्मन...
खत्म कर दिया...
सब...
ताल, तालाब, पोखर... 
सूख रही है...
सब नदियां....
काट रहे हैं सारे जंगल....
बना रहे हैं हम....
खुद के लिए जंगल...
पेड़ पौधे सब अस्ताचल हो गए....
नहीं रह गई....
स्वच्छ वायु पवन वेग...
हम कर रहे विनाश...
बदले में प्रकृति देगी महाविनाश....
मौसम कर रहा तांडव नृत्य...
फिर क्यों दोष देते....
मौसम को....
हम ही तो हैं मृत्यु के सृजनहार....



Browse By Tags



Other News