दिल्ली की पहली महिला ऑटो ड्राइवर से ऑटो में ही लूट
| Rainbow News Network - Jun 6 2019 12:48PM

दिल्ली की पहली महिला ऑटो ड्राइवर सुनीता चौधरी लूट का शिकार हो गई हैं। बीते मंगलवार को गाजियाबाद में उनसे 30,000 रुपये एक ऑटोवाले ने ही लूट लिए। दरअसल ये घटना तब हुई जब 40 साल की सुनीता मेरठ में अपने गांव से वापस दिल्ली लौट रही थीं। ये तीस हजार रुपये सुनीता ने नए ऑटो के लिए जोड़े थे क्योंकि उनका पुराना ऑटो 15 साल पुराना हो चुका था और उसे बदलने की जरूरत थी।

सुनीता मोहन नगर पर अपनी बस छोड़ चुकी थीं और आनंद विहार की ओर जा रही थीं। मोहन नगर पर उन्हें एक ऑटो मिला जिसमें दो आदमी पीछे की सीट पर बैठे थे जबकि एक ड्राइवर के साथ। सुनीता को 20 रुपये में आनंद विहार छोड़ने की बात तय हुई। सुनीता का बैग पीछे रखवा दिया गया और आगे की सीट पर बैठे शख्स को भी पीछे भेज दिया गया। ऑटो में खराबी बताकर इसे वसुंधरा पर रोका गया। ये असल में एक जाल था जिसे सुनीता समझ नहीं पाईं।

ऑटो खराब दिखा तो सुनीता भी मदद के लिए उतरी। कुछ देर बाद पीछे बैठे शख्स ने सुनीता को उसका बैग थमाया और कहा कि आप दूसरा ऑटो ले लीजिए। सुनीता सड़क किनारे खड़ी होकर दूसरे ऑटो की राह देखने लगी। इतने में पहले वाला खराब ऑटो अचानक चल पड़ा और उससे बैठने को भी नहीं कहा। ऐसे में सुनीता को शक हुआ तो उसने अपना बैग चेक किया। बैग के भीतर से 30 हजार रुपये का पैकेट गायब था।

तलाकशुदा सुनीता ने बताया कि वे अपनी बचत के सारे पैसे बैंक में रखती हैं और दिल्ली आने से पहले उन्होंने 30 हजार रुपये निकाले थे। उन्होंने बताया कि मेरे पास कमर्शियल लाइसेंस है और में 10,000 रुपये देकर नया परमिट लेने पर विचार कर रही थी। जिसके बाद मैं नया ऑटो खरीदती। लेकिन इन पैसों के जाने के बाद मेरे पास कोई रास्ता नहीं बचा है और अब मुझे 300 रुपये प्रतिदिन के किराए पर ऑटो चलाना होगा। पुलिस सीसीटीवी की मदद से लुटेरों को खोजने की कोशिश कर रही है।



Browse By Tags



Other News