पैगम्बरे इस्लाम की बेटी के शहादत दिवस मौके पर मजलिस का आयोजन
| Rainbow News Network - Jun 17 2019 12:06PM

अम्बेडकरनगर। नगर के लोरपुर ताजन में पैगम्बरे इस्लाम हजरत मुहम्मद मुस्तफा (स) की बेटी हजरत फातिमा जेहरा के शहादत दिवस पर लोरपुर करबला में गम के प्रोग्राम आयोजित हुए। वही लोरपुर कर्बला में हजरत फातिमा जहरा सलामुल्लाह अलैहा की ज़री मुबारक रखी गई। तकरीर मजलिस कार्यक्रम का संचालन आरिफ अनवर अकबरपुरी ने किया वहीं तमाम तर उलमा ए कराम ने तकरीर को संबोधित करते हुए हजरत फातमा जहरा की शहादत बयां करके उनकी अजमत और पाक़ीज़ा किरदार की अहमियत पर रोशनी डाली गई!

वहीं तकरीर को संबोधित करते हुए मौलाना सैयद वसीउल हसन जौनपुर ने कहा कि हजरत फातिमा जहरा दुनिया की तमाम ख्वातीन के लिए एक रोशनी के मीनार की हैसियत रखती हैं मौलाना सैयद मोहम्मद असगर शरिब सिझौली ने कहा कि हजरत मोहम्मद साहब ने अपनी प्यारी बेटी फातिमा जहरा को अपने जिगर का टुकड़ा करार दिया! मौलाना सैयद मोहम्मद अली जौहर अमसिन ने कहा कि फातिमा जहरा ने बेटी की हैसियत से अपने बाप हजरत मोहम्मद साहब और अपने शौहर हजरत अली की मिसाली खिदमत की और अपनी आगोश से ऐसे मिसाली बच्चे हसन और हुसैन को परवान चढ़ाया!

मौलाना सैयद इंतजार मेहंदी फैजी ने कहा कि फातिमा जहरा की जिंदगी ऐसा सबक है कि जो भी औरतें इनके बताएं हिदायत के रास्ते पर चलेंगी वह कभी गुमराह नहीं होंगी! मौलाना सैयद शबाब हैदर इमामे जुमा लोरपुर ने कहा कि हजरत फातिमा जहरा के किरदार को अपनाकर अपनी जिंदगी गुजारने के लिए ताकीद किया !

मौलाना शब्बर हुसैन खान ने कहा कि हजरत मोहम्मद साहब का इरशाद है कि मेरा खुदा गवाह है कि जिसने मेरी बेटी हजरत फातमा को खुश रखा उसने मुझे खुश रखा और उसने खुदा की रजा और खुशनुद हासिल की! उसके बाद तमाम उलमाए कराम ने फातिमा जहरा की शहादत के मसाएब बयान किए और चारों तरफ फिजा में सिर्फ रोने की आवाजें ही बुलंद थी वही मजलिस के बाद लोरपुर कस्बे की सभी अंजुमनो ने नौहा मातम पेश कर कर्बला की याद को ताजा कर दिया ज़री मुबारक की जियारत के लिए हजारों की संख्या में लोगों का जनसैलाब उमड़ा रहा!

रिपोर्ट- हसन अब्बास



Browse By Tags



Other News