अकबरपुर: बारिश का पानी उसरहवा कॉलोनी के घरों में घुसा, गुस्साये लोगों ने घेराव व धरना-प्रदर्शन की दी चेतावनी
| Rainbow News Network - Jul 15 2019 4:49PM

अम्बेडकरनगर। एक हफ्ते से होने वाली बारिश ने नगर पालिका अकबरपुर की सफाई, सड़क व जल निकासी व्यवस्था की पोल खोल दी है। लगातार होने वाली इस बारिश के पानी के निकलने की व्यवस्था न होने की वजह से बारिश का पानी नपाप अकबरपुर के 25 वार्डों की कई कॉलोनियों में रहने वाले लोगों के घरों में घुस गया है। इस स्थिति में लोग घरों से पानी निकालने में जुटे हुए हैं। इन लोगों ने नपाप के सभी जिम्मेदारों को फोन किया परन्तु सबके फोन या तो स्विच ऑफ या फिर नेटवर्क कवरेज एरिया से बाहर मिले।

वार्ड नम्बर 11 उसरहवा कॉलोनी की गलियों में घुटनों तक जलभराव होने की वजह से जहाँ आवागमन में बाधा उत्पन्न हो रही है वहीं कई घर के आंगन, किचन, स्टोर रूम में बारिश का पानी भरा हुआ है। सड़कें व गलियाँ हल्की सी भी बारिश में तालाब बन जाया करतीं हैं। तेज बारिश तो इस वार्ड की आधी आबादी को अपनी आगोश में ले लेती है। इस वार्ड के दिक्कत झेल रहे लोगों का कहना है कि यह स्थिति हर साल बरसात में बन जाया करती है। परन्तु नपाप अकबरपुर इससे निपटने के लिए किसी भी तरह का कोई प्रबन्ध नहीं करता है। दर्जनों लोगों ने कहा कि नियमित नालियों की सफाई व गली के दोनों तरफ नालियों का निर्माण किया गया होता तो ऐसी स्थिति उत्पन्न न होती। यही नहीं गन्दगी के ढेर, सड़ान्धयुक्त वातावरण उसरहवा कॉलोनी वासियों की नियति बन गई है। 

घरों में पानी घुसने व पूरे वार्ड व नगर में जलभराव की स्थिति उत्पन्न होने के बावत बात करने पर जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा यह कहा जाता है कि इस समय मुम्बई, दिल्ली और लखनऊ आदि शहर भारी जलवृष्टि से जूझ रहे हैं  यहाँ यदि ऐसी स्थिति है तो क्या किया जा सकता है। नगर पालिका अकबरपुर के अवर अभियन्ता (निर्माण) घनश्याम मौर्या से जब उसरहवा वार्ड की जलनिकासी व्यवस्था के बारे में बात की गई तो उन्होंने कहा कि बोर्ड की बैठक में प्रस्ताव आने पर ही वहाँ किसी भी प्रकार का निर्माण कार्य कराया जाएगा, इसके पहले न तो जलनिकासी के लिए नाली का निर्माण हो सकता है  और न ही गली की अपरेजिंग ही कराई जा सकती है। 

अधिशाषी अधिकारी नपाप अकबरपुर सुरेश कुमार मौर्य से उत्पन्न जलभराव की समस्या के सम्बन्ध में बात की गई तो उनका कोई स्पष्ट जवाब नहीं मिला। अलबत्ता उन्होंने मौका-मुआयना करने के लिए एक सफाई कर्मी को भेज दिया। न तो स्वयं आए और न ही अन्य किसी जिम्मेदार को भेजना उचित समझा। उसरहवा की आधी आबादी के लोग नारकीय जीवन व्यतीत कर रहे हैं। बरसात में जलभराव की वजह से जहाँ बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे हैं वहीं महिला-पुरूष अपने घरों में कैद होकर रह गए हैं। बरसात के दिनों से पहले नाली निर्माण ड्रेनेज की सफाई के बड़े-बड़े दावे किए जा रहे थे, लेकिन सड़कों पर, गलियों में रूका पानी उनके दावों की पोल खोल रहा है। जलभराव की वजह से उसरहवा कॉलोनी में डेंगू, मलेरिया एवं अन्य जानलेवा संक्रामक बीमारियों जैसे- गैस्ट्रो, हैजा, चेंचक आदि के फैलने का खतरा बढ़ गया है। 

घरों में बरसात का पानी घुसने के चलते वार्ड 11 उसरहवा कॉलोनी के लोगों में भारी आक्रोश व्याप्त हो गया है। संजीव, सुरेन्द्र, मदन, राकेश, सतीश, सुरेश, राजीव, नरेन्द्र, सन्तोष, प्रदीप, महेन्द्र, अनीता, ममता, तारा, ऊषा, निषा, चन्दा, बन्दा, पूजा, रीता, नीता, रीना, काव्या, सान्या, सानवी, केवला देवी, सुमन लता, शकुन्तला आदि ने कहा है कि यदि अभी भी नपाप अकबरपुर के जिम्मेदार नहीं चेते तो वे लोग लामबन्द होकर पालिका प्रशासन के खिलाफ धरना-प्रदर्शन करने को बाध्य होंगे। वे लोग नपाप कार्यालय अकबरपुर में ई.ओ. व नपाप अध्यक्ष आवास का घेराव और जिलाधिकारी आवास एवं कलेक्ट्रेट व नगर के अन्य प्रमुख स्थानों पर भारी संख्या में एकत्र होकर धरना प्रदर्शन करेंगे। 



Browse By Tags



Other News