बाढ़ और बारिश से महंगी हुई सब्जियाँ, उपभोक्ता हलकान
| Rainbow News Network - Jul 20 2019 12:19PM

भारत के विभिन्न स्थानों के मौसम में इस बार काफी अंतर देखा जा रहा है। कहीं इतनी अधित बारिश हो गई है कि बाढ़ आ गई है। तो कहीं लोग सूखे से परेशान हैं और बारिश के इंतजार में बैठे हैं। इसके चलते किसानों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि खराब मौसम के चलते फसलें खराब हो रही है। 

हल्की हुई आम आदमी की जेब 

बारिश की बूंदों के साथ ही महंगाई ने आम आदमी की जेब को हल्का करना शुरू कर दिया है। रसोई में दाल का स्वाद फीका हो रहा है और सब्जियों का स्वाद बिगड़ गया है। दाल-सब्जियों के तड़के से टमाटर के दाम ने भी आसमान छू लिया है। मानसून की दस्तक के साथ ही दाल-सब्जियों से लेकर तेल-मसालों की कीमतों में बढ़ोतरी हो गई है। सब्जियों के बढ़ रहे दाम का असर अब लोगों की थालियों में दिखने लगा है। सब्जियों के दामों में 50 फीसदी तक की बढ़ोतरी हुई है।

सब्जियों की पैदावार को हो रहा नुकसान

सब्जी मंडी में थोक कारोबारियों का कहना है कि अभी दो महीने सब्जियों के दामों में इजाफा होगा। अन्य दिनों के मुकाबले इन दिनों बारिश के सीजन में आवक 60 फीसदी तक कम हो जाती है। कम स्टॉक होने और मांग अधिक होने से सब्जियों के रेट बढ़ जाते हैं। इसके अलावा बारिश के सीजन में कई जगह सब्जियों की पैदावार को भी नुकसान होता है। 

ये तो रही सब्जियों की बात। बाजारों में इस समय सेब की कीमत भी आसमान छू रहा है। फल मण्डल से लेकर बाजारों में इस समय अमेरिकन सेब 200 रूपए प्रति किलो की दर से बिक रहा है। सेब की इस महंगाई से यह आम उपभोक्ताओं की पहुँच से काफी दूर हो गया है।   



Browse By Tags



Other News