इस्लाम ने हमेशा कुर्बानी देना सिखाया है 
| Rainbow News Network - Aug 8 2019 5:16PM

जौनपुर। नगर के बलुवाघाट स्थित हाजी मोहम्मद अली के इमामबाड़े में मरहूम शेख अनवर हसन की मजलिस को खेताब करते हुए मौलाना फजले मुमताज ने कहा कि इस्लाम ने हमेशा कुर्बानी देना सिखाया है और यही जज्बा लेकर आज हम लोग चल रहे हैं।

उन्होंने कहा कि ईद उल जुहा बकरीद करीब है जो हजरत इब्राहिम (अ.स.) के खुदा द्वारा लिये गये सबसे बड़े इम्तेहान की याद ताज़ा करता है जब मात्र सपने में अल्लाह के हुक्म से अपने एकलौते बेटे जनाबे इस्माइल (अ.स.) को खुदा के लिये कुर्बान करने के लिये पहाड़ियों पर ले गये थे। जब आँखों पर पट्टी बांधकर उन्हें गर्दन पर छुरी चलाने के बाद आंखें खोली तो सामने बेटा जिंदा खड़ा था और उनके स्थान पर एक दुमम्बा ज़िब्हा पड़ा था।

उन्होंने कहा कि कर्बला में हज़रत इमाम हुसैन ने अपना पूरा परिवार इस्लाम को बचाने के लिए शहीद कर दिया इसलिए आज भी हम लोग उनका गम मनाते है जो हमें इंसानियत व मानवता की रक्षा की सीख देती है। इस्लाम हमेशा दूसरों की मदद करने की सीख देता है हमें उसी रास्ते पर चलने की ज़रूरत है। इसके पूर्व सोज़ख़्वानी काशिफ़ व उनके हमनवां ने पढ़ा जबकि पेशखानी रेहान, नौहाख्वानी नवाज़ खान व अदीब ने पढ़ा।

इस मौके पर मौलाना गुलाम अली खान, मोहम्मद हैदर, डा. क़मर अब्बास, सैय्यद मंज़र अब्बास, सैय्यद जैगम अब्बास, मिर्ज़ा रज़ा बेग मिर्ज़ा रमी, रूमी, रूबी, शज़र, सैय्यद तनवीर, रियाजुल हक़ प्रधान, डा. सज्जाद मेहदी, अली, शाहिद मेंहदी, फैसल हसन तबरेज़, रिज़वान हैदर राजा, आज़म ज़ैदी, रूमी आब्दी, आरिफ हुसैनी, नायाब हसन सोनू, आज़म ज़ैदी सहित अन्य लोग मौजूद थे। पत्रकार सै.हसनैन क़मर दीपू ने सभी का आभार प्रकट किया।



Browse By Tags



Other News