अम्बेडकरनगर : भूमाफियाओं ने करोड़ों की जमीन का करा दिया फर्जी बैनामा
| Rainbow News Network - Aug 21 2019 12:51PM
  • मामला अकबरपुर के मरूई-ताजपुर गाँव का
  • उपनिबन्धक कार्यालय के अधिकारी/कर्मचारियों की भूमिका संदिग्ध
  • पीड़ित किसानों ने धरना-प्रदर्शन कर की कार्यवाही की मांग

जिले में भू माफियाओं और क्रय-विक्रय करने वालों की सक्रियता इस समय सुर्खियों में है। कूटरचित एवं फर्जी तरीके से भूमि का क्रय-विक्रय किए जाने का यह धन्धा काफी पुराना है। जनपद गठन (29 सितम्बर 1995) से लेकर वर्तमान लगभग 25 सालों में यह कार्य दिनों दिन फल-फूल रहा है। जमीन किसी की भी हो उसकी बिक्री कोई दूसरा करके स्वयं तो मालामाल हो ही रहा है साथ ही इस फर्जीवाड़ा धन्धे में संलिप्त लोग रातों रात लखपति बनते जा रहे हैं।

जिले में भूमाफियाओं का हौंसला इतना बुलन्द है कि मुख्यालय से सटे गाँव हाजीपुर-मरूई ताजपुर (तहसील-अकबरपुर) निवासी कई किसानों की बेशकीमती जमीनों का फर्जी बैनामा करा दिया गया। बगैर किसानों की जानकारी के ही उनकी खतौनियाँ फर्जी फोटो व आधार कार्ड संलग्न कर कतिपय लोगों द्वारा क्रय कर ली गई। जानकारी होने पर किसानों ने धरना-प्रदर्शन कर भूमाफियाओं (क्रेता-विक्रेता) सहित उपनिबन्धक कार्यालय अकबरपुर के अधिकारी व कर्मचारियों पर मिलीभगत और साजिश का आरोप लगाया। 

विवरण अनुसार अकबरपुर तहसील क्षेत्र के हाजीपुर-मरूई ताजपुर गाँव निवासी मंशाराम वर्मा, बच्चाराम वर्मा, राम सुभग वर्मा आदि की 9 बीघा जमीन हौंसलाबुलन्द भूमाफियाओं ने कूटरचित ढंग से उपनिबन्धक कार्यालय के कर्मचारियों व अधिकारियों की मिलीभगत से अन्य व्यक्तियों का फोटो लगाकर बैनामा करा दिया। कलेक्ट्रेट स्थित अम्बेडकर प्रतिमा से समक्ष धरना-प्रदर्शन करने वाले किसानों ने भूमाफियाओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की।

उक्त धरना में अकबरपुर विधायक राम अचल राजभर के प्रतिनिधि बालमुकुन्द धुरिया ने पीड़ित किसानों की तरफ से सदर उप जिलाधिकारी अभिषेक पाठक से वार्ता करते हुए मांग किया कि मामले की प्रशासनिक टीम द्वारा जाँच कराकर किसानों को उनकी भूमि के कागजात वापस दिलाए जाएँ तथा भूमाफियाओं व फर्जीवाड़े में शामिल उपनिबन्धक कार्यालय के कर्मचारियों व अधिकारियों के खिलाफ सख्त वैधानिक कार्रवाई की जाए। 

अकबरपुर में फर्जी फोटो लगाकर भूमाफियाओं द्वारा लगभग 9 बीघा बेशकीमती जमीन के बैनामा प्रकरण पर बसपा नेता बालमुकुन्द धुरिया ने एस.डी.एम. सदर अभिषेक पाठक से मिलकर कहा कि यहाँ चल रहे जमीन बैनाम दलालों के रैकेट और उनके द्वारा किए गए फर्जी काम का मामला बहुत गम्भीर है। इस रैकेट द्वारा किया गया फर्जीवाड़ा पहला मामला नहीं है। इस तरह के मामले इस तहसील में होना लगभग आम बात सी हो गई है। बसपा नेता ने प्रशासनिक टीम बनाकर फर्जीवाड़ा मामले का अविलम्ब खुलासा करने की मांग किया।



Browse By Tags



Other News