उस्मानिया कमेटी की जानिब से शाही अटाला मस्जिद पर जलसे का आयोजन
| - RN. Network - Aug 21 2019 3:50PM

उस्मानिया कमेटी की जानिब से शाही अटाला मस्जिद के पूर्वी गेट पर रात 8 बजे शाहदत उस्मान ए गनी (र.त.अ.) के सिलसिले से एक जलसे का आयोजन किया गया। जलसे की अध्यक्षता पूर्व विधायक हाजी अफजाल अहमद ने की और संचालन नेयाज ताहीर शेखू ने किया। जलसे की शुरूआत हाफिज मोहम्मद शारीम ने तेलावते कलाम पाक से की। उसके बाद हाफिज मोहम्मद शाहीद, अजीम जौनपुरी, मोहम्मद निजामि ने नाते नबी पेश किया।

जलसे को सम्बोधित करते हुये मौलाना वसीम अहमद शेरवानी ने कहा कि उस्मान ए गनी की शहादत उस वक्त हुयी जब वह कुरआन पढ़ रहे थे। जिससे हम मुसलमानों को यह सबक लेना चाहिए कि हमको नमाज व कुरआन का पाबंद होना चाहिए। वह गनी के लकब से नवाजे गये उस्मान ए गनी को यह सर्फ हासिल था कि उनके निकाह में रसुल की दो दो बेटियां थी। इसीलिए वह जिन्नुरैन कहलाये। मौलाना वसीम ने कहा कि आज हम सबको उस्मान ए गनी की सिररत पर अमल करना चाहिए।

मौलाना कयामुद्दीन ने सलाम व दुआ के साथ जलसा खत्म कराया। इस मौके पर हाजी अब्दुल अव्वल, हाजी अब्दुल अहद, हाजी फैसल, अनवारूल हक गुड्डू, हफीज शाह, शकिल मंसूरी, फिरोज पप्पू, शुएब अच्छु, हाजी हबीब राईनी, कमालुद्दीन अंसारी, साजिद अलीम, इरसाद मंसूरी, सरफराज अंसारी, शाहनवाज अहमद आदि लोग मौजूद रहे।



Browse By Tags



Other News