कर अधिवक्ताओं ने मनाया जीएसटी काला दिवस
| Rainbow News Network - Aug 27 2019 5:59PM

डीएम व कमिश्नर को प्रेषित किया मांगों का ज्ञापन

जौनपुर। एक राष्ट्र-एक कर की अवधारण लेकर बनाया गया जी.एस.टी. कानून जिसे अच्छा व सरल कर बताया गया लेकिन यह वास्तव में व्यापारियों के लिये समस्याओं का गुच्छा है जो पूरी तरह से जहर है। इस नियम को लागू हुये लगभग 2 वर्ष से अधिक हो गये लेकिन समस्याएं सुलझने के बजाय निरन्तर उलझती जा रही हैं।

करदाताओं के अलावा अधिवक्ता, सीए, विभागीय अधिकारी, कर्मचारी आदि सभी इस कानून के मकड़जाल में उलझकर रह गये हैं। जीएसटी अपने संग्रह लक्ष्य को नहीं पा रहा है जिसके पीछे इसका दोषपूर्ण प्रारूप है। उक्त बातें टैक्सेशन बार एसोसिएशन ने मंगलवार को जिलाधिकारी एवं डिप्टी कमिश्नर को अपनी मांगों का ज्ञापन सौंपने के दौरान कही।

अध्यक्ष दिनेश श्रीवास्तव एडवोकेट एवं सचिव डा. दिवाकर गुप्ता एडवोकेट के नेतृत्व में ज्ञापन सौंपने वाले कर अधिवक्ताओं ने इसके पहले जीएसजी काला दिवस मनाया। तत्पश्चात् जिलाधिकारी अरविन्द मलप्पा बंगारी को ज्ञापन सौंपा जिसके बाद जीएसटी राज्य कर कार्यालय में डिप्टी कमिश्नर के माध्यम से कमिश्नर जीएसटी राज्य कर उत्तर प्रदेश को ज्ञापन भेजा।

इस अवसर पर दिनेश श्रीवास्तव, डा. दिवाकर गुप्त, शशि गुप्त, दिवाकर सिंह, विजय शंकर पाण्डेय, दिलीप उपाध्याय, अमित गुप्त, रवि यादव, प्रशांत निगम, प्रदीप श्रीवास्तव, प्रशांत गुप्त, अजय मौर्य, प्रमोद मौर्य सहित तमाम अधिवक्ता मौजूद रहे।



Browse By Tags



Other News